scriptUP Assembly Election 2022 Sitapur Ground Report Naimisharnya developme | नैमिषारण्य में जुमला बन रह गई योगी की 100 करोड़ की घोषणा, जनता पूछ रही क्यों नहीं हुआ तीर्थ क्षेत्र का विकास | Patrika News

नैमिषारण्य में जुमला बन रह गई योगी की 100 करोड़ की घोषणा, जनता पूछ रही क्यों नहीं हुआ तीर्थ क्षेत्र का विकास

सीतापुर में कुल 9 विधानसभा क्षेत्र हैं। इनमें से सात पर 2017 में बीजेपी को जीत मिली थी। एक पर सपा और एक सीट बसपा जीती थी। विधानसभा चुनाव 2022 से कुछ समय पहले यहां के बीजेपी विधायक राकेश राठौड़ और सिधौली से बसपा विधायक डॉक्टर हरगोविंद भार्गव सपा में शामिल हो गए।

सीतापुर

Published: February 17, 2022 03:23:24 pm

UP Assembly Election 2022: लखनऊ से 89 किलोमीटर दूर गोमती नदी के किनारे बसे सीतापुर को भगवान राम की पत्नी सीता के रूप में संदर्भित किया गया है। यहीं नैमिषारण्य तीर्थक्षेत्र भी है। लाखों लोग यहां 84 कोस की परिक्रमा करते हैं। नैमिषारण्य तीर्थक्षेत्र के विकास एवं पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 100 करोड़ रुपए से विकास की घोषणा की थी। जो पांच साल में पूरी नहीं हुई। यह घोषणा भाजपा के लिए गले की फांस बन गई है। नैमिषारण्य के लोग कह रहे हैं कि योगी को राम की जन्मस्थली अयोध्या तो याद रह गई लेकिन नैमिषारण्य तपोस्थली याद नहीं रही।
UP Assembly Election 2022 Sitapur Ground Report
UP Assembly Election 2022 Sitapur Ground Report
योगी की यह घोषणा यहां महंगी भाजपा के लिए महंगी साबित हो सकती है। मिश्रिख विधानसभा क्षेत्र में आने वाले नैमिषारण्य क्षेेत्र के लोगों में झूठी घोषणा का आक्रोश है। उनका यह भी कहना है कि हिन्दुत्व और सनातन धर्म की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले योगी आखिर नैमिषारण्य को क्यों भूल रहे हैं?
यह भी पढ़ें

धनबल के प्रयोग पर चुनाव आयोग हुआ चौकन्ना, बैंक खातों पर रहेगी नजर

विकास परिषद का भी नहीं हुआ गठन

नैमिषारण्य, मिश्रिख और चौरासी कोसी परिक्रमा के विकास के लिए नैमिष विकास परिषद का गठन अब तक नहीं हो पाया जबकि सरकार ने मथुरा, वृंदावन, अयोध्या सहित पांच तीर्थों के विकास परिषद का गठन किया। नैमिषारण्य चक्रतीर्थ सनातन धर्म की आस्था का केन्द्र है। यहां मां ललिता देवी मंदिर, चक्रतीर्थ, व्यास गद्दी, सूत गद्दी, हनुमान गढ़ी सहित कई पौराणिक एवं आध्यात्मिक दर्शनीय स्थल हैं। फाल्गुन की चौरासी कोसी परिक्रमा में लाखों श्रद्धालु आते हैं।
दल बदला फिर भी राकेश राठौर हैं प्रत्याशी

सीतापुर में कुल 9 विधानसभा क्षेत्र हैं। इनमें से सात पर 2017 में बीजेपी को जीत मिली थी। एक पर सपा और एक सीट बसपा जीती थी। विधानसभा चुनाव 2022 से कुछ समय पहले यहां के बीजेपी विधायक राकेश राठौड़ और सिधौली से बसपा विधायक डॉक्टर हरगोविंद भार्गव सपा में शामिल हो गए। इससे समीकरण थोड़े बदल गए। लेकिन भाजपा ने सीतापुर सीट पर राकेश राठौर गुरु नाम के ही एक भाजपाई को टिकट दिया। यहां सपा से राधेश्याम जायसवाल और बीएसपी से खुर्शीद अंसारी के बीच कड़ा मुकाबला है।
यह है राजनीतिक समीकरण

सीतापुर में मुस्लिम, कुर्मी, दलित और ब्राह्मण वर्ग के मतदाता राजनीति तय करते हैं। सामान्य वर्ग 16.5 प्रतिशत, पिछड़ा वर्ग 42 प्रतिशत, एससी 24.5 प्रतिशत, ओबीसी 17 प्रतिशत हैं। 25 साल से कभी भारतीय जनता पार्टी तो कभी समाजवादी पार्टी जीतते रहे। यहां का चुुनाव पूरी तरह से जातीय समीकरणों पर टिका हुआ है। चुनावी चौसर में मुद्दे गौण हैं। भाजपा और सपा के बीच ही मुख्य मुकाबला माना जा रहा है।
यह भी पढ़ें

गजक-रेवड़ी के लिए मशहूर लखनऊ में पार्टियां बांट रही जुबानी रेवड़ियाँ

किसानों की भी नाराजगी झेल रही है भाजपा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सीतापुर में वर्चुअल जनसभा की फिर भी किसानभी भाजपा से नाराज हैं। छुट्टा जानवरों से उन्हें नुकसान हो रहा है। एमएसपी और कृषि अंादोलन भी मुद्दा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.