UTTAR PRADESH ASSEMBLY ELECTIONS 2022: यूपी में 36% नेतों पर आपराधिक मामले, भाजपा में 114 विधारकों का क्रिमिनल बैकग्राउंड

UTTAR PRADESH ASSEMBLY ELECTIONS 2022: यूपी में सबसे ज्यादा अपराध होते है। सभी पार्टियां अपने चुनावी वादे में अपराध मुक्त प्रदेश की बात करती है। मगर पार्टियों के आंकड़े निकाले तो उनके खुद के विधायकों पर गंभीर आरोप दर्ज है। आइये आपको बताते है प्रदेश में किस पार्टी में कितने विधायकों पर आपराधिक मामले दर्ज है।

By: Payal Tomar

Published: 15 Sep 2021, 04:48 PM IST

लखनऊ। यूपी में सभी दल चुनावी अभियान में लग गए है। सभी पार्टियों ये दावा कर रही है कि उसके आने से अपराध कम हो जाएंगे। मगर वही हम मौजूदा विधायकों के आपराधिक मामले देखे तो वो अलग ही तस्वीर पेश करते है। यूपी के 2017 विधानसभा चुनाव के अकड़े देखे तो 403 विधायकों में से 138 में आपराधिक मामले दर्ज है। यूपी देश का सबसे बड़ा राज्य है और यहां पर अपराध के मामले भी सबसे ज़्यादा है। बात की जाए विधानसभा में जीतने वाले विधायकों की तो यहां पर 36% विधायक आपराधिक बैकग्राउंड से आते है।

859 उम्मीदवारों पर थे आपराधिक मामले

403 सीटों के लिए जो 4823 उम्मीदवार उतारे गए थे उसमें से 859 उम्मीदवार आरोपी थे। वही 859 में से 704 पर गंभीर आरोप दर्ज थे। बता दे कि गंभीर अपराध में व्यक्ति 5 साल या उससे ज्यादा की सजा में जेल जा सकता है और ये गैर-जमानती अपराध होते है। सभी पार्टीयों में आपराधिक रिकार्ड के उम्मीदवार खड़े किए गए थे। जिसमें 33% उम्मीदवारों पर पहले से केस दर्ज थे।

859 उम्मीदवारों में 138 आपराधी जीते चुनाव

पार्टियों ने तो आपराधिक उम्मीदवार उतारे ही मगर हैरानी वाली बात ये है कि 859 में 138 उम्मीदवार जीत कर विधानसभा भी पहुंच गए। यूपी में 36% जीते हुए उम्मीदवारों पर आपराध दर्ज है। वैसे तो ये आकड़ा 2012 की तुलना में कम हुआ है। भाजपा में 114 क्रिमिनल बैकग्राउंड के विधायक है तो विपक्ष में 72 विधायक पर गंभीर आरोप है।

भाजपा विधायकों में अपराधिक मामले

भाजपा ने 2017 विधानसभा में 312 सीटे जीती थी जिसमें 114 आपराधिक रिकॉर्ड वाले विधायक शामिल है। बिठूर से आने वाले एमएलए अभिजीत सिंह सांहा पर भाजपा में सबसे ज्यादा 10 अपराध दर्ज है। वही राज्य के मुख्य मंत्री योगी अदित्यनाथ पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज है।

सबसे ज्यादा अपराधिक रिकार्ड वाले एमएलए

कांग्रेस के यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू पर 16 मामले दर्ज है जिसमें कई गंभीर आपराधिक मामले भी शामिल है। वही बसपा के विधायक मुख्तार अंसारी पर भी 16 मामले दर्ज है। और अगर सपा की बात करे तो सिरसागंज आने वाले एमएलए हरीओम यादव पर 7 अपराधिक रिकार्ड है।

Payal Tomar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned