scriptVaranasi city northern assembly constituency traders in decisive role | Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र, लगेगी भाजपा की हैटट्रिक या ढहेगा किला | Patrika News

Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र, लगेगी भाजपा की हैटट्रिक या ढहेगा किला

बनारस की शहर उत्तरी विधानसभा व्यापारी बहुल इलाका है। 2012 के परिसीमन के पहले इस क्षेत्र को मुस्लिम बहुल इलाका माना जाता रहा। लेकिन परिसीमन के बाद मुस्लिमों का बड़ा क्षेत्र शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र में चला गया। अब व्यापारी वोट बैंक निर्णायक है। वैसे गंगा-जमुनी तहजीब वाले इस इलाके में जनसंघ व भाजपा को मिला कर आठ बार तो कांग्रेस पांच बार चुनाव जीत चुकी है। वर्तमान में भाजपा के रवींद्र जायसवाल विधायक हैं जो योगी मंत्रिमंडल में मंत्री भी हैं।

वाराणसी

Published: January 10, 2022 05:10:39 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र आजादी के बाद से ही गंगा-जमुनी तहजीब वाला क्षेत्र रहा है। वजह इस क्षेत्र में मुस्लिम आबादी ज्यादा रही। बावजूद इसके जनसंघ व भाजपा का परचम लहराता रहा। लेकिन 2012 के परिसीमन के बाद उत्तरी का बड़ा मुस्लिम बेल्ट शहर दक्षिणी से जुड़ गया। बावजूद इसके अभी भी आम धारणा यही है कि इस क्षेत्र से मुस्लिम ही निर्णायक होते हैं। इसी सोच के साथ 2017 के विधानसभा चुनाव में जब राहुल गांधी और अखिलेश यादव की दोस्ती परवान चढी तब सपा के अब्दुल समद को कांग्रेस कोटे से प्रत्याशी बनाया गया। लेकिन व्यापारियों ने एक बार फिर से भाजपा के सिर जीत का सेहरा बांधा और रवींद्र जायसवाल न केवल चुनाव जीते बल्कि योगी मंत्रिमंडल में भी शामिल हुए।
वाराणसी शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र
वाराणसी शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र
आठ बार भगवा बिग्रेड ने फहराया परचम

शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र में आजादी के शुरूआती चुनावों को छोड़ दें तो बाद के चुनावों में भगवा ब्रिगेड का ही कब्जा रहा है। 1951 से 2017 के बीच हुए 19 विधानसभा चुनाव में तीन बार भारतीय जनसंघ तो पांच बार भाजपा का कब्जा रहा है। वैसे कांग्रेस इस सीट पर पांच बार फतह हासिल कर चुकी है। 1996 से 2007 तक चार बार लगातार समाजवादी पार्टी का कब्जा रहा है, जबकि 2012 और 2017 में भाजपा के रविंद्र जायसवाल ने जीत दर्ज की। बसपा का खाता खुलना शेष है।
शुरू के तीन चुनावों में कांग्रेस का रहा दबदबा

1951 से लगातार तीन बार कांग्रेस ने यहां पर जीत हासिल की। फिर भारतीय जनसंघ ने भी जीत की हैट्ट्रिक लगाई। इस वर्चस्व को 1980 में तोड़ा कांग्रेस के शफी उर रहमान अंसारी ने। लेकिन उसके बाद से कांग्रेस लगातार इस सीट पर जीत की जमीन तलाश रही है।
रविंद्र जायसवाल हैं विधायक

विधानसभा चुनाव 2017 में वाराणसी शहर उत्तरी सीट पर भाजपा के प्रत्याशी रवींद्र जायसवाल को 1,16,017 मत मिले। दूसरे नंबर पर रहे कांग्रेस के अब्दुल समद अंसारी को 70,515 मत प्राप्त हुए। बता दें कि भाजपा विधायक रवींद्र जायसवाल दो बार से लगातार वाराणसी के उत्तरी विधानसभा से विधायक हैं। वह यूपी सरकार में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं।
व्यापारियों का गढ

शहर उत्तरी खासतौर पर कारोबारियों का क्षेत्र माना जाता है। क्षेत्र के लगभग 60 हजार वैश्य वोटरों में जायसवाल की अच्छी पकड़ है। इन्हें बड़े व्यापारी नेता के तौर पर भी देखा जाता है।
जातीय समीकरण
जातीय समीकरण की बात करें तो शहर उत्तरी में हिंदू मतदाताओं की संख्या 2,55,000 है जबकि 65-70 हजार1 मुस्लिम वोटर हैं। यहां वैश्य 60 हजार, ठाकुर 75-80 हजार, कायस्थ 30 हजार हैं।

मुद्दे
गंदगी, सीवर, सड़क, जनसुविधाओं का टोटा
दावेदार

कांग्रेस- मनीष चौबे, हरीश मिश्रा, शैलेंद्र कुमार सिंह, डॉ आशीष कुमार जायसवाल, हाजी ओकास अंसारी, अजय कुमा सिंह श्रवण कुमार गुप्त अनीसुर्रहमान, डॉ जफर उल्लाह जफर, हाजी रईस अहमद, विशाल सिंह, नीलम खान
भाजपा- रविंद्र जायसवाल
सपा-मनोज राय धूपचंडी, डॉ ओपी सिंह, वीरेंद्र सिंह, राबिया कलाम, जिशान कलाम

मतदाता

कुल मतदाता-418649

पुरुष मतदाता-229293

महिला मतदाता-189314

थर्ड जेंडर-42

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.