West Bengal Assembly Elections 2021: बांकुड़ा के ताजपुर में BJP दफ्तर पर हमला और आगजनी

West Bengal Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा में ताजपुर गांव में बने भाजपा कार्यालय पर हमला किया गया। हमले के बाद दफ्तर में आग भी लगा दी गई। भाजपा ने इसके लिए टीएमसी पर आरोप लगाए हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 03 Apr 2021, 05:39 PM IST

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 ( West Bengal Assembly Elections 2021 ) के लिए पहले और दूसरे चरण का मतदान समाप्त हो चुका है। अब अगले चरण के मतदान से पहले मतदाताओं को रिझाने के लिए सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक हिंसा का दौर भी जारी है।

इसी कड़ी में पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा में ताजपुर गांव में बने भाजपा कार्यालय पर हमला किया गया। इतना ही नहीं हमले के बाद हमलावरों ने कार्यालय में आग भी लगा दी। बताया जा रहा है कि हमलावरों ने इस घटना को शुक्रवार देर रात अंजाम दिया है। इस हमले के लिए भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। भाजपा ने कहा कि उनकी पार्टी में टीएमसी के गुंडों ने ही हमला कर आगजनी की है।

यह भी पढ़ें :- West Bengal Assembly Electon 2021 : नंदीग्राम से हार रहीं ममता दीदी, 60 में से 50 सीटें जीत गई भाजपा

इस हमला में भाजपा के एक कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हुआ है, जिन्हें बांकुडा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि शुक्रवार की देर रात टीएमसी के 100 से अधिक गुंडे आए और उनके कार्यालय पर हमला बोल दिया। भाजपा ने आरोप लगाया है कि हमलावरों के पास हथियार भी थे। अब पूरे इलाके में तनाव का माहौल है। हालात खराब न हो इसके लिए पूरे इलाके में भारी संख्या में पुलिस व सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है।

भाजपा ने बांकुड़ा-दुर्गापुर हाईवे पर किया प्रदर्शन

इस हमले के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध जताने के लिए बांकुड़ा-दुर्गापुर हाईवे जाम कर दिया। हाईवे पर प्रदर्शन करते हुए टीएमसी नेता अमजद की गिरफ्तारी की मांग की। प्रदर्शनकारी भाजपा कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर टायर जलाकर विरोध जताया और चेतावनी दी कि जब तक अमजद को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक वे सड़क से नहीं हटेंगे। इधर टीएमसी के जिलाध्यक्ष श्यामल ने इस भाजपा की अंदुरूनी लड़ाई बताया है।

यह भी पढ़ें :- West Bengal Assembly Elections 2021 बंगाल को जीतने के लिए 'मोदी दादा' व भाजपा की स्पेशल स्क्रिप्ट

भाजपा ने आरोप लगाया है कि ताजपुर गांव के लोग पिछले दस सालों से अपना वोट खुद नहीं दे पा रहे थे, लेकिन इस बार गांववालों ने अपना वोट खुद डाला है। यही कारण है कि टीएमसी के गुंडों ने उनके दफ्तर पर हमला किया है।

इधर, टीएमसी ने भाजपा के सभी आरोपों को खारिज करते हुए उल्टा आरोप लगाया है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने राजमाधवपुर में उनके दफ्तर पर हमला किया है, जिसमें उनके दो कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। बता दें कि, बंगाल में लगातार राजनीतिक हिंसा जारी है। पहले दो चरण के चुनाव में भी राजनीतिक हिंसा देखने को मिली है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned