UP Elections 2022: चुनाव के वक्त बसपा ने खोला राज, वह अनुच्छेद 370 पर क्यों है भाजपा के साथ

बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने योगी आदित्यनाथ सरकार के शासनकाल की तुलना इमरजेंसी से करते हुए कहा कि प्रदेश के लोग इस इमरजेंसी से बाहर निकलने के लिए तैयार हैं और मौका मिलते ही उन्हें हटा देंगे।

By: Arsh Verma

Updated: 13 Sep 2021, 09:57 AM IST

लखनऊ। साल 2019 में केंद्र सरकार द्वारा हटाए जाने वाली धारा 370 का विरोध कई विपक्षी दलों ने किया था लेकिन मायावती की पार्टी का रुख सरकार के फैसले के साथ था। संसद में भी बसपा ने भाजपा के इस फैसले का समर्थन किया था। मायावती के इस फैसले पर विपक्षी दल आश्चर्य में थे। अब बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने इस बात का खुलासा किया है कि आखिर उनकी पार्टी ने संसद में भाजपा के इस कदम का क्यों समर्थन किया था। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में हम अकेले ही लड़ेंगे।

बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि बसपा राष्ट्रीय और जनहित मुद्दों पर सावधानीपूर्वक विचार-विमर्श करने के बाद ही फैसला लेती है।

उन्होंने बताया कि यह डॉ अंबेडकर की सोच के अनुरूप था। भाजपा भी इस कदम से हैरान थी, उन्हें भी नहीं पता था कि हम इस कदम का समर्थन करने जा रहे हैं। इसको लेकर हमारी सोच बहुत ही साफ़ थी कि जम्मू-कश्मीर में देश के बाकी हिस्सों की तुलना में मुसलमानों की संख्या कम होने के बावजूद इस कानून के हिसाब से वहां बाहर के लोगों से शादी करने, संपत्ति रखने और स्थायी नागरिक बनने पर प्रतिबंध जैसी कई चीजें हैं जो ठीक नही थी।

अकेले चुनाव लडने के दिए संकेत

एक इंटरव्यू के दौरान पूछे जाने वाले सवाल पर सतीश मिश्र ने आगामी विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन करने के सवाल पर साल 2019 में समाजवादी पार्टी के साथ हुए गठबंधन के कड़वे अनुभव का हवाला देते हुए कहा कि उनकी पार्टी 2022 का विधानसभा चुनाव अकेले ही लड़ेगी।

साथ ही उन्होंने 2007 की तरह ही इस बार के विधानसभा चुनाव में भी अपने दम पर सत्ता में लौटने का भरोसा जताया। उन्होंने कहा कि तब भी हम अकेले ही चुनाव लड़े थे. हमें उस समय भी कई लोग कमजोर समझते थे और उन्हें लगता था कि हमारी पार्टी ख़त्म हो गई है। लेकिन जब नतीजे घोषित हुए तो हमने सरकार बना ली।

भाजपा सरकार पर लगाए आरोप

बसपा नेता सतीश मिश्रा बात चीत के दौरान सरकार पर आरोप लगाने से भी नही चूके उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है।

योगी के शासनकाल को बताया इमरजेंसी

उन्होंने योगी आदित्यनाथ सरकार के शासनकाल की तुलना इमरजेंसी से करते हुए कहा कि प्रदेश के लोग इस इमरजेंसी से बाहर निकलने के लिए तैयार हैं और मौका मिलते ही उन्हें हटा देंगे।

सपा बसपा गठबंधन पर बोले सतीश मिश्रा

इसके अलावा बसपा और सपा के अलग अलग चुनाव लड़ने पर भाजपा को फायदा होने के सवाल पर सतीश मिश्रा ने कहा कि उन्हें बिल्कुल भी फायदा नहीं होगा। इस बार कोई मतदाता या जनता उनके साथ नहीं खड़ी है।

विपक्षी दलों की एकता पर बोले सतीश मिश्रा

विपक्षी दलों पर बोलते वक्त सतीश मिश्रा कांग्रेस पर भी भड़के और बोले कि जब हमारे पास 40 से ज्यादा सांसद हुआ करते थे तो हमने उनका समर्थन किया लेकिन उन्होंने हमारे विधायकों को ही तोड़ दिया। एक तरफ आप बसपा को तोड़ने के लिए ये सब करते हैं। और दूसरी तरफ कहते हैं कि बसपा को हर हाल में आपके साथ खड़ा होना चाहिए।

Arsh Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned