scriptShow cause notice sent to Electric Vehicle manufacturers over fire incidents says Nitin Gadkari | एक्शन में नितिन गडकरी! Electric Vehicles में आग लगने पर कंपनियों को भेजा नोटिस, बड़ी कार्रवाई की तैयारी | Patrika News

एक्शन में नितिन गडकरी! Electric Vehicles में आग लगने पर कंपनियों को भेजा नोटिस, बड़ी कार्रवाई की तैयारी

बीते दिनों नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने राज्यसभा में अपने लिखित जवाब में कहा था कि, देश में 13 लाख से ज्यादा रजिस्टर्ड इलेक्ट्रिक वाहन हैं। हालांकि आग लगने की घटानाओं के बाद कुछ कंपनियों अपने वाहनों को रिकॉल भी किया था।

नई दिल्ली

Published: July 23, 2022 05:34:07 pm

देश में हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की कई घटनाएं सामने आई हैं, जिनमें ज्यादातर इलेक्ट्रिक स्कूटर्स शामिल थें, इसके अलावा बीते दिनों टाटा मोटर्स की मशहूर इलेक्ट्रिक एसयूवी Tata Nexon EV में आग लग गई थी। इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं पर सरकार सख्त होती नज़र आ रही है और इस मामले में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने संसद को सूचित किया कि इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के सभी निर्माताओं को उनके कुछ वाहनों में बैटरी की समस्या के कारण आग लगने के बाद कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

nitin_gadkari_electric_vehicle-amp.jpg
Show cause notice sent to Electric Vehicle manufacturers Says Nitin Gadkari


लोकसभा में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियों के सीईओ और प्रबंध निदेशकों को कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। उन्होनें कहा है कि, वाहन निर्माताओं की तरफ से जवाब मिलने के बाद आगे की अतिरिक्त कार्रवाई की जाएगी। कंपनियों से पूछा गया है कि वो आग लगने की घटनाओं के मामले में कारण बताएं कि, आखिर उन पर मोटर व्हीकल एक्ट से संबंधित सेक्शन क्यों न लगाया जाए।

हाल के महीनों में बिजली से चलने वाले दोपहिया वाहनों में आग लगने की कई खबरें आई हैं, ऐसे समय में लोगों की सेफ्टी को लेकर चिंताएं बढ़ रही हैं जब सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल पर बड़ा जोर दे रही है। वहीं कुल वाहन निर्माताओं को अपने कुछ मॉडलों को रिकॉल भी करना पड़ा था। नितिन गडकरी ने कहा कि, मंत्रालय "समय-समय पर" सुरक्षा मानकों को अधिसूचित करता है और वाहन निर्माताओं द्वारा इनका "अनुपालन किया जाना आवश्यक है"।


उन्होनें कहा कि इस प्रक्रिया को केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 के नियम 126 के तहत अधिसूचित किया गया था, जो कहता है कि अप्रूवल सर्टिफिकेट केवल प्रोटोटाइप या कंपोनेंट्स को जारी किया जाता है जो सभी निर्देशित मानकों को पूरा करते हैं।

यह भी पढें: महज 2,500 का कर लें इंतज़ाम और घर लाएं Honda Activa , जानें क्या है डील

बता दें कि, भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की कुल बिक्री में 6 प्रतिशत तक का इजाफा देखा जा रहा है। बीते दिनों नितिन गडकरी ने राज्यसभा में अपने लिखित जवाब में कहा था कि, देश में 13 लाख से ज्यादा रजिस्टर्ड इलेक्ट्रिक वाहन हैं। हालांकि आग लगने की घटानाओं के बाद कुछ कंपनियों अपने वाहनों को रिकॉल भी किया था। ओकिनावा ऑटोटेक ने 16 अप्रैल को 3,215 वाहनों को वापस मंगाया, 21 अप्रैल को प्योर ईवी ने 2,000 और 23 अप्रैल को ओला इलेक्ट्रिक ने 1,441 वाहनों को वापस मंगाया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

इसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़राजस्थान के जालोर में दलित छात्र की मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद, अलर्ट पर प्रशासनपिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालाRakesh Jhunjhunwala: PM मोदी और अमित शाह समेत कई बड़े दिग्गजों ने झुनझुनवाला को दी श्रद्धांजलिसिर पर टोपी, हाथों में तिरंगा; आजादी का जश्न मनाते दर्जनों मुस्लिम बच्चों का ये वीडियो कहां का है और क्यों वायरल हो रहा है?Rajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदRakesh Jhunjhunwala Rajasthan connection: राजस्थान के झुंझुनूं जिले से जुड़ी है राकेश झुनझुनवाला की जड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.