आज आधी रात से राजस्थान रोडवेज की बसों का चक्काजाम

आज आधी रात से राजस्थान रोडवेज की बसों का चक्काजाम

Jameel Khan | Publish: Sep, 16 2018 12:12:50 PM (IST) एम्प्लॉई कॉर्नर

प्रदेश में रविवार रात 12 बजे से राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन नहीं होगा।

प्रदेश में रविवार रात 12 बजे से राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन नहीं होगा। दरअसल, रोडवेज के संयुक्त मोर्चे की ओर से रविवार आधी रात बाद बसों के चक्काजाम की घोषणा की गई है। इससे प्रदेशभर में 4500 रोडवेज बसों का संचालन बंद हो जाएगा और 9 हजार कर्मचारी काम बंद कर हड़ताल पर चले जाएंगे। पिछले पांच सालों में यह रोडवेज की चौथी हड़ताल है। हर बार सरकार हड़ताल के बाद ही वार्ता का प्रस्ताव रखती है। इससे जहां रोजाना 10 लाख यात्री परेशान होते हैं, वहीं सरकार को करोड़ों का नुकसान होता है। हैरानी की बात है कि रोडवेज के संयुक्त मोर्चे और भारतीय मजदूर संघ के रोडवेज कर्मियों की ओर से पिछले 15 दिन से मांगों को लेकर आंदोलन चलाया जा रहा है। यहां तक कि कर्मचारी पिछले सात दिन से क्रमिक अनशन और 3 दिन से आमरण अनशन पर बैठे हैं। इसके बावजूद सरकार ने अभी तक दोनों संगठनों को वार्ता का प्रस्ताव तक नहीं दिया है। अब संयुक्त मोर्चे ने 24 घंटे के चक्काजाम की घोषणा की है।

पहले ये हड़ताल
2014 30—31 जुलाई
2016 6 अक्टूबर
2018 25—27 जुलाई

17 करोड़ रुपए का हुआ था नुकसान
इधर, पिछले डेढ़ महीने में रोडवेज की यह दूसरी हड़ताल है। इससे पहले 25 से 27 जुलाई को चक्काजाम किया गया था। 27 जुलाई को सरकार और कर्मचारियों के बीच समझौता वार्ता की गई। इस दौरान रोडवेज को 17 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। संयुक्त मोर्चे का कहना है कि समय पूरा होने के बाद भी समझौते का पालना नहीं की गई।

ये थीं प्रमुख चार मांंगें
-सेवानिवृत्त कर्मचारियों को देय सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान
-नवीन बसों की खरीद
-रोडवेज कर्मचारियों को राज्य सरकार के अनुरूप सातवें वेतनमान के अनुसार वेतन और पेंशन भत्ते
-रिक्त पदों को भरने की स्वीकृति

पिछले समझौते में इन मांगों पर सहमति बनी
-सरकार अगस्त तक रोडवेज को 150 करोड़ रुपए देगी
-रोडवेज की नकारा बसों को रिप्लेसमेंट के आधार पर चरणबद्ध तरीके से बदला जाएगा
-रिटायर्ड आइएएस अधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी, जिसमें कर्मचारी नेता और अधिकारी भी शामिल होंगे। कमेटी सातवें वेतनमान और नई भर्ती की मांग के संबंध में 31 अगस्त तक रिपोर्ट देगी।

कलक्टर के आदेश पर मेडिकल हुआ
इधर, भारतीय मजदूर संघ के रोडवेज श्रमिकों के आमरण अनशन के तीसरे दिन रोडवेजकर्मी सत्यनारायण शर्मा और जितेन्द्र सिंह शर्मा अनशन पर रहे। जिला कलक्टर के आदेश पर चिकित्सकों की टीम ने अनशन स्थल पर दोनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया।

&सरकार ने वादाखिलाफी की है। सरकार आचार सांहिता का इंतजार कर रही है। इसीलिए मांगों को पूरा नहीं कर रही। संयुक्त मोर्चा 24 घंटे की ***** जाम हड़ताल करेगा। मांग पूरी नहीं हुई तो समय बढ़ाएंगे। एमएल यादव, प्रदेश अध्यक्ष, राजस्थान स्टेट रोडवेज एम्प्लॉइज यूनियन (एटक)

&सरकार की ओर से कमेटी बनाई गई है। कमेटी की तीन बैठक भी हो गई हैं। जो समझौता हुआ उसी की पालना कराई जा रही है। जो कर्मचारी हड़ताल में शामिल नहीं हैं, वे काम करेंगे।
सांवरमल वर्मा, एमडी रोडवेज

Ad Block is Banned