SC/ST ACT के विरोध में Bharat Bandh दिखा व्यापक असर, थाने का किया घेराव, सरकार के खिलाफ नारेबाजी

SC/ST ACT के विरोध में Bharat Bandh दिखा व्यापक असर, थाने का किया घेराव, सरकार के खिलाफ नारेबाजी

Amit Sharma | Publish: Sep, 06 2018 05:54:06 PM (IST) Etah, Uttar Pradesh, India

Bharat Bandh के दौरान लोग पानी की बोतल को भी तरस गए। जिले के व्यापारियों ने दुकानों को बंद रखकर भारत बंद का समर्थन किया।

 

एटा। सुप्रीमकोर्ट के निर्देश के बाद भी केंद्र सरकार द्वारा एस सी/एस टी एक्ट में संशोधन के विरोध में भारत बंद का जबरदस्त असर दिखा। जनपद में सभी मार्केट पूर्णतया बन्द रहे। लोग पानी की बोतल को भी तरस गए। जिले के व्यापारियों ने दुकानों को बंद रखकर भारत बंद का समर्थन किया। जिसमें अल्पसंख्यक व अतिपिछड़ोंं ने भी समर्थन दिया।

यह भी पढ़ें- Bharat Bandh के विरोध का दिखा असर, अर्धनग्न प्रदर्शन तो दुकानें रहीं बंद

थाने का किया घेराव

जनपद न्यायालय के अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य से विरत रहकर कर भारत बंद का समर्थन किया। वहीं सवर्णों के विरोध के चलते जनपद में पुलिस का हाई अलर्ट रहा। इस लिए जनपद में फ़ोर्स चप्पे चप्पे पर लगाई गई है। एटा के एसएसपी आशीष तिवारी ने जनपद के सभी थानाध्य्क्ष को अलर्ट रहने के दिये कड़े निर्देश दिए लेकिन उसके बाद भी लोगों का आक्रोश देखने को मिला। आक्रोशित लोगों ने थाने का भी घेराव कर लिया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

यह भी पढ़ें- Bharat Bandh Live: कहीं जुलूस निकाला, कहीं पीएम मोदी का पुतला फूंका, कहीं गूंज उठा इलाका सरकार विरोधी नारों से

रोजमर्रा की वस्तुओं के लिए तरसे लोग

भारत बंद के दौरान लोग रोजमर्रा की वस्तुओं के लिए भी तरस गए। क्योंकि जनपद में अधिकतर दुकानें बंद रहीं। सवर्णों के आक्रोश के चलते पुलिस प्रशासन ने पूरे जनपद में हाई अलर्ट कर दिया है। इसलिए चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया। वहीं जनपद के थाना जलेसर पर आक्रोशित लोगों ने कब्ज़ा कर लिया और भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। इतना ही नहीं स्थानीय भाजपा विधायक संजीव दिवाकर और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अप शब्द बोलते हुए विरोध प्रकट किया गया। वहीं जनपद के ग्रामीण इलाकों में भी सवर्णों का आक्रोश देखने को मिला। अलीगंज , रामपुर , सकीट क्षेत्र में भी लोगों का आक्रोश देखने को मिला। जनपद एटा के कस्बा रामपुर में भी लोगों ने बाइक रैली निकाल कर अपना विरोध प्रकट किया।

Ad Block is Banned