एटा में दलित छात्र को तार से बांधकर जमकर पीटा, जातिसूचक शब्द भी कहे

कुछ समय पहले छात्र की दबंगों से हुई थी कहासुनी। उसका बदला लेने के लिए दबंगों ने छात्र को डंडों और रायफल की बट से पीटा।

By: suchita mishra

Updated: 28 Sep 2018, 11:05 AM IST

एटा। जिले में आईटीआई के दलित छात्र को दबंगों ने रायफल की नोंक पर बंधक बनाकर जमकर पीटा जिससे छात्र गंभीर रूप से घायल हो गया। बताया जा रहा है कि घायल छात्र को जब उसके परिजन कोतवाली लेकर पहुंचे तो पुलिस ने कार्रवाई करने से इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस और परिजनों में जमकर बहस हुई। घायल छात्र का कहना है कि मामला भाजपा नेता से जुड़ा है। छात्र के मुताबिक कुछ समय पहले उसकी उन लोगों से कहासुनी हो गई थी, जिसका बदला लेने के लिए उन लोगों ने उसे बेरहमी से पीटा है। जब इस मामले में एएसपी एटा संजय कुमार से बात की गई तो उन्होंने एससी/एसटी एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई की बात कही है।

दरअसल ये पूरा मामला निधौली रोड के हीरीनगर का है। यहां का रहने वाला अंकित एटा में आईटीआई सेकेंडियर का छात्र है। करीब एक माह पूर्व जब अंकित चारा लेने जा रहा था तभी उसका बनगांव निवासी दबंग बंटी से कुछ कहासुनी हो गयी थी, उस समय कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कर दिया था। बताया जा रहा है कि कल शाम जब अंकित अपने पिता की बाइक को ठीक कराने जा रहा था, तभी बनगांव निवासी बंटी और उसके कुछ साथियों ने अंकित को घेर लिया। रायफल की नोंक पर उसे अगवाकर गाड़ी से अपने घर ले गये, जहां उसे तार से बांधकर तमंचों की बटों और डंडों से जमकर पीटा। साथ ही छात्र को जाति-सूचक शब्द कहे। इसके बाद वे लोग उसे वहीं पर घायल अवस्था में छोड़कर फरार हो गए।

बुरी तरह से घायल छात्र ने किसी तरह घटना की सूचना अपने परिजनों को दी जिसके बाद परिजन व कुछ स्थानीय लोग उसे लेकर कोतवाली नगर पहुंचे। परिजनों का आरोप है कि पहले तो पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करने से साफ इंकार कर दिया, जिसको लेकर परिजनों और पुलिस में काफी बहस हुई। बाद में एसएसपी के निर्देश पर पुलिस ने घायल दलित छात्र की तहरीर पर आरोपी बंटी और उसके चार अन्य साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया। फिलहाल पुलिस एससी/एसटी एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई के साथ आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की बात कह रही है।

 

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned