नौ सिर के रावण की ‘अस्थियां’ लेने दौड़ी भीड़, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, देखें वीडियो

-एटा के रामलीला ग्राउंड में पुलिस ने मुश्किल से काबू किए श्रद्धालु।
-मान्यता है कि अस्थियां घर मे रखने से क्लेश नहीं होता, शांति रहती है।
-यहां रावण को दशासन नहीं, नौनानन कहा जाता है।

एटा। उत्तर प्रदेश के एटा के रामलीला मैदान में सौ वर्ष से भी ज्यादा पुरानी ऐतिहासिक रामलीला के दौरान दशहरा पर 9 सिर के रावण का पुतला दहन किया गया। इसके बाद रावण की अस्थियों को (जली हुई लकड़ियों) को लेने के लिए वहां पर मौजूद दर्शकों की भीड़ दौड़ पड़ी। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने दर्शकों पर लाठी चार्ज कर दिया। इससे कई लोग लाठी लगने से घायल हो गए है। बड़ा हादसा होने से टल गया।

यह भी पढ़ें: शादी से ऐन वक्त पहले बारातियों और घरातियों को चकमा देकर दुल्हन हुई फरार, जानिए पूरा मामला!

ये है मान्यता
पुरानी मान्यता है कि रावण की अस्थियों को ले जाने से घर में क्लेश नहीं होता है। घर में शांति रहती है। इसी के चलते रावण दहन को देखने आए दर्शकों ने अपनी जान को जोखिम में डालकर रावण की अस्थियों की प्रतीक जली हुई लकड़ी को लेने के लिए दौड़ लगा दी। उस समय पुतला जल रहा था। यह देख पुलिस ने दर्शकों को बल प्रयोग कर खदेड़ा।

नौ सिर का रावण
आपको बता दें कि ये एटा में रावण को दशानन नहीं, नौनानन कहा जाता है, क्योंकि इसके नौ सिर होते हैं। रावण की नाभि में मर्यादा पुरषोत्तम भगवान श्रीराम ने अपने तरकश से तीर मारकर उसका दहन किया। नौ सिर के इस रावण के दहन की चर्चा समूचे जनपद में है।

यह भी पढ़ें: सीआरपीएफ जवान का वीडियो वायरल, डाकू पान सिंह तोमर बनने की दी धमकी, सीएम योगी से मांगा न्याय, देखें वीडियो...

100 वर्ष से ज्यादा पुरानी रामलीला
रामलीला कमेटी के महामंत्री उमाशंकर गिरि ने बताया कि एटा शहर की रामलीला 100 वर्ष से ज्यादा पुरानी है किताबों में भी एटा की रामलीला का जिक्र है। एक तरफ रावण दहन कर धार्मिक परम्पराओं का निर्वहन किया जाता है तो सामाजिक संदेश भी दिए जाते हैं। रावण दहन वास्तव में अधर्म पर धर्म की जीत है। बुराई पर अच्छाई की जीत है। सबको याद रखना चाहिए कि गलत काम करने वाले का अंत बुरा होता है।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned