​कर्ज लेकर भी नहीं बचा पाई पति की जिंदगी, 10 साल बाद उसी कर्ज ने ले ली महिला की जान, पढ़िये गरीब विधवा की ये दर्दनाक कहानी

10 साल पहले पति के इलाज के लिए लिया था पैसा, उस कर्ज को न चुका पाने के कारण सूदखोर कर रहा था परेशान। तंग आकर उठाया आत्मघाती कदम।

By: suchita mishra

Published: 15 Nov 2018, 12:19 PM IST

एटा। जिले में सूदखोर से परेशान होकर एक गरीब विधवा महिला ने मौत को गले लगा लिया। महिला पर लाखों रुपए का कर्ज था। सूदखोर ब्याज सहित कर्ज वापसी का दबाव बना रहा था। इससे परेशान होकर विधवा महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के बेटे ने इस मामले में सूदखोर के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है।

ये था मामला
जानकारी के मुताबिक अलीगंज थाना क्षेत्र के झकरई गांव की रहने वाली महिला के पति दिनेश की 10 वर्ष पूर्व बीमारी के चलते मौत हो गयी थी। बीमार पति के इलाज के लिए महिला ने गांव के ही सूदखोर से आठ हजार रुपये का कर्ज लिया था। महिला उस कर्ज को अब तक नहीं चुका पायी थी और दस सालों में कर्ज बढ़ते बढ़ते कई लाख रुपये तक पहुंच चुका था। तंगहाली और मुफलिसी के दौर से गुजर रही 45 वर्षीय महिला पर सूदखोर लगातार ब्याज समेत रुपए वापसी का दबाव बना रहा था। इसके कारण महिला काफी समय से परेशान चल रही थी। तंग आकर महिला ने फांसी लगाकर जीवनलीला को समाप्त कर लिया। फिलहाल मृतका के बेटे की तहरीर के आधार पर पुलिस ने सूदखोर के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned