script900 agnisachetak will help fire department to extinguish in etawah | 900 अग्निसचेतक इटावा में आग बुझाने को करेगे दमकल विभाग की मदद | Patrika News

900 अग्निसचेतक इटावा में आग बुझाने को करेगे दमकल विभाग की मदद

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य में होने वाली आगजनी की घटनाओं को काबू करने के लिए आम जनमानस का भी सहयोग लेने में जुट गई. आग बुझाने वालो को अग्नि सचेतक नाम दिया है।
इसी कड़ी में इटावा में 900 अग्नि सचेतक बनाए गए है।

 

इटावा

Updated: June 20, 2022 07:50:26 pm

इटावा के मुख्य अग्निशमन अधिकारी तबारक हुसैन ने आज यहां बताया कि आज प्रतीक स्वरूप एक सैकड़ा अग्नि सचेत को को प्रमाण पत्र जारी कर दिए गए हैं इटावा जिले में 8 ब्लॉक हैं । प्रत्येक ब्लॉक में एक सैकड़ा अग्नि सचेतक तैनात किए जाएंगे । जरूरत पड़ने के हिसाब से इनकी संख्या को बढ़ाया भी जाएगा इस हिसाब से अग्नि सचेतको की संख्या 900 के आसपास होने का अनुमान है। अग्निसचेतको को दमकल विभाग की ओर से कोई भुगतान नहीं किया जाएगा । यह सभी सहयोगी की भूमिका में मात्र रहेंगे।
etawah_news.jpgFire Department Personals in Etawah
Fire Department Personals in Etawah

उत्तर प्रदेश फायर सर्विस मुख्यालय के दिशा निर्देशन मे अग्नि सचेतकों को प्रशिक्षण के उपरान्त आज अग्निसचेतक प्रमाण पत्र वितरित किये गए है। अग्नि सचेतकों का प्रशिक्षण भी इटावा पुलिस लाइन में अग्निशमन विभाग में दिया गया है।
जिला मुख्य अग्निशमन अधिकारी तबारक हुसैन ने बताया कि इटावा के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लगभग नौ सौ युवाओं को अग्नि सचेतक का दायित्व सौंपा गया है। जो युवा देश सेवा करना चाहते हैं जिनमे समाज के लिये कुछ करने का जज्बा है । उन युवाओं को इसमे प्रशिक्षित किया जा रहा है। इन सबको प्रशिक्षण दे करके अग्निकाण्ड मे होने वाले जनहानि व संपत्ति हानि का न्यूनीकरण किया जा सके। उन्होंने बताया कि जिले में जो युवा तैराकी जानते हैं उन्हें अग्नि शमन विभाग खास तरह का प्रशिक्षण दे रहा है। गांव व आसपास के इलाकों में आग लगने पर वे नदी को किस संयम के साथ तैर कर पार करेंगे, यह सब प्रशिक्षण उन्हें दिया जा रहा है।
इटावा के सदर फायर स्टेशन प्रभारी सनद कुमार पटेल ने बताया कि सभी युवाओं को यह बात बताई गई है। इनके गांव, खेत खलिहानों में जब बड़ी आगजनी की घटनाएं घटित हों तो उन्हें सबसे पहले जिले के अग्निशमन विभाग को सूचित करना होगा। अमूमन होता यह है कि ग्रामीण इलाकों में आगजनी की सूचना पर जब अग्निशमन की टीम घटनास्थल की ओर जाती है तो सही पता न मिलने की वजह से वह रास्ता भटक जाती है। यह अग्निसचेतक अग्निशमन टीम का मार्ग निर्देशन करेंगे। इन सभी अग्निसचेतक को विभाग ने अपने इक्विपमेंट के बारे में गहरी जानकारियां मुहैया करवायीं हैं।साथ ही आग लगने की घटनाओं में अग्निशमन की टीम पहुंचने तक अग्निसचेतक आसपास के इलाकों से पानी की व्यवस्था कर आग बुझाने का भी कार्य करेंगे।

जिला के मुख्य अग्निशमन अधिकारी तबारक हुसैन ने बताया कि ग्रामीण इलाकों के जिन युवाओं को प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद जो प्रमाण पत्र वितरित किये गए है।उन्हें सुरक्षा गार्ड की नोकरी में वरीयता दी जाएगी।उन्होंने बताया कि यह प्रमाण पत्र बेहद इम्पोर्टेन्ट है।जब भी सुरक्ष गार्ड की सरकारी व प्राइवेट सेक्टर में नोकरी के अवसर आएंगे उसमे इन अग्नि सचेतकों को प्रथम वरीयता मिलेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Udaipur murder case: गुस्साए वकीलों ने कन्हैया के हत्यारों के जड़े थप्पड़, देखें वीडियोMaharashtra: गृहमंत्री शाह ने महाराष्ट्र के उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA को सौंपी, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुआ था मर्डरनूपुर शर्मा विवाद पर हंगामे के बाद ओडिशा विधानसभा स्थगितMaharashtra Politics: बीएमसी चुनाव में होगी शिंदे की असली परीक्षा, क्या उद्धव ठाकरे को दे पाएंगे शिकस्त?सरकार ने FCRA को बनाया और सख्त, 2011 के नियमों में किये 7 बड़े बदलावकेरल में दिल दहलाने वाली घटना, दो बच्चों समेत परिवार के पांच लोग फंदे पर लटके मिलेक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.