भाजपा को किसानों व बेरोजगारों की आवाज नहीं सुनाई दे रही - अखिलेश

"हकीकत यह है कि प्रदेश में किसानों को अपना धान 900, 1000 व 1100 रुपये प्रति कुंतल के हिसाब से बेचना पड़ा है."

By: Abhishek Gupta

Published: 26 Jan 2021, 08:04 PM IST

इटावा. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि किसानों को एमएसपी का लाभ देते हुए उनका धान 1868 रुपये प्रति कुंतल के हिसाब से सरकार ने खरीदा है जबकि हकीकत यह है कि प्रदेश में किसानों को अपना धान 900, 1000 व 1100 रुपये प्रति कुंतल के हिसाब से बेचना पड़ा है। कोरोना बीमारी ने लोगों की नाक और मुंह बंद करवा दिए, लेकिन पता नहीं बीजेपी के लोगों को कौन सी बीमारी लग गयी है कि इन लोगों ने अपनी आंख और कान बन्द कर लिए हैं, इन्हें किसानों और बेरोजगार लोगों की आवाज नहीं सुनाई दे रही है।

उन्होंने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि बाबा मुख्यमंत्री कहते हैं कि हमने 24 करोड़ में से 14 करोड़ लोगों को रोजगार दिया। कहा दे दी नौकरी। प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। विकास के नाम पर सरकार सपा शासन में करवाये गए विकास कार्यों के नाम और रंग बदलने में जुटी है। बाबा जी को लैपटाॅप चलाना नहीं आता है, इसलिए उन्होंने लैपटाॅप नही बांटे।

इटावा, सैफई, फिरोजाबाद और मैनपुरी के लोगों से विशेष नफरत है - अखिलेश

उन्होंने स्वच्छ भारत योजना के तहत बनवाये गए शौचालय पर निशाना साधते हुए कहा कि यह लोग वहां पर अपना नाम लिखवाते हैं। जहां हम लोग पेशाब जाते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने आपको योगी लिखते हैं। योगी वह होता है जो दूसरों के दुख को अपना दुख समझे। यह योगी नहीं हो सकते। इन्हें इटावा, सैफई, फिरोजाबाद और मैनपुरी कें लोगों से विशेष नफरत है। इटावा में पैदा हुए शेरों को कहीं और ले जाने की तैयारी हो रही है, यह इनका विकास है। उन्होंने कहा कि ऐसे नफरत फैलाकर झूठ बोलने वाले लोगो को 22 के विधानसभा चुनाव में जबाब देना है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned