भाजपा नेता पर लगा गैंगरेप का आरोप, पीड़ित पक्ष ने कहा आरोपी को बचा रही, लड़की के पिता को फंसा रही पुलिस

गैंगरेप के आरोपी भाजपा नेता को बचाने के लिये पुलिस ने पिता को दी जेल भेजने की धमकी.

By: Abhishek Gupta

Published: 23 Aug 2020, 06:42 PM IST

इटावा. इटावा में गैंगरेप (Gangrape) मामले में भाजपा (BJP) नेता घिरते नजर आ रहे हैं। आरोप है कि पुलिस आरोपी नेता को बचाने के लिए खुद पीड़िता के पिता को रेप के मामले में फंसाने की धमकी दे रही है। इसी को लेकर रविवार को इटावा जिले के जसवंतनगर इलाके के कन्हई गाॅव में थाने में पीड़ित परिवार के गांव वालों ने जोरदार हंगामा किया। इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के निर्देश पर पूरे मामले की जसंवतनगर थाने जांच करने के लिए पहुंचे एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र नाथ प्रसाद ने बताया कि पीड़ित युवती के बयान दर्ज कराने के साथ उसका मेडिकल परीक्षण कराया गया है। उन्होंने बताया कि मामले की गहनता से पड़ताल की जाएगी। जो दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। किसी को भी बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर कई तरह के आरोप जसंवतनगर पुलिस पर लग रहे हैं, इसलिए इसकी अलग से रिर्पोट तैयार करके एसएसपी को दी जायेगी।

पीड़िता के पिता को रेप के आरोप में फंसाने की दी पुलिस ने धमकी-

रविवार सुबह पीड़ित परिवार तथा गांव के सैकड़ों लोग थाना जसवंतनगर पहुॅचे और हंगामा काटने लगे। प्रभारी निरीक्षक अंजन कुमार ने उन्हें किसी प्रकार समझाया। जसवंतनगर पुलिस के भाजपा संगठन में जिला महामंत्री व मुख्य आरोपी मनोज लोधी के पक्ष में खड़े हो जाने के बाद एसएसपी आकाश तोमर ने एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र नाथ प्रसाद को जांच के लिए भेजा। गैंगरेप की शिकायत लेकर थाने गए पिता को ही पुलिस ने बेटी से रेप के आरोप में जेल भेजने की धमकी दे डाली। गैंगरेप के मामले के विवेचक दरोगा बनवारी लाल ने पिता को यह धमकी दी है। 21 अगस्त को हुई गैंगरेप की वारदात के बाद 22 अगस्त को मामला धारा 354 खा ओर 506 आईपीसी में दर्ज किया गया।

आरोपी पर केवल छेड़छाड़ का मामला दर्ज-

शनिवार की दोपहर जब लड़की का मेडिकल कराने के लिए जसवंतनगर थाने का दरोगा बनवारी लाल डा. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय पहुंचा तो साथ में मारपीट की जांच करा दी गई, लेकिन बलात्कार की जांच ना कराए जाने को लेकर लड़की के परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। इससे पहले जसवंतनगर थाने में दरोगा ने लड़की के परिजनों को डरा धमका कर जेल भेजने की बात कह कर के मनचाहा प्रार्थना पत्र लिखवा लिया। जसवंतनगर थाने के पुलिस अधिकारियों ने आरोपी भाजपा नेता को बचाने के लिये गैंगरेप की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बजाय केवल छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर इतिश्री कर ली।

जिलाध्यक्ष ने कहा- आरोपी को पार्टी से पांच माह पहले ही निकाल दिया गया है

भारतीय जनता पार्टी की पिछड़ा वर्ग जिला इकाई की अध्यक्ष विरला शाक्य का कहना है कि गैंगरेप का मुख्य आरोपी मनोज लोधी उनके संगठन में जिला महामंत्री पद पर है, लेकिन वो काफी समय से संगठन की बैठकों में आते नहीं। वहीं भाजपा जिला अध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे का कहना है कि मनोज लोधी को 5 महीना पहले ही पार्टी से बाहर कर दिया गया है। अब सच कौन बोल रहा है यह तो भगवान ही जाने। पीड़िता के पिता मुन्नीलाल ने इस बात को दावे के साथ कहा कि जसवन्तनगर थाने में कल भाजपा जिला अध्यक्ष अजय प्रताप ठाकरे कई नेताओं के साथ गैंगरेप के मुख्य आरोपी मनोज लोधी को छुड़ाने के लिए गए थे।

गैंगरेप पीड़िता के पिता मुन्नी लाल का कहना है कि जसवंतनगर थाने का दरोगा बनवारी लाल उसे जेल भेजने की धमकी देकर भाजपा नेताओं को बचाने में जुटा हुआ है। दरोगा का साफ कहना है कि तुमने ही अपनी लड़की के साथ में बुरा काम किया है और भाजपा नेता को फंसाना चाहते हो।

सपा ने कहा यह-

सनसनीखेज मामले को लेकर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष गोपाल यादव कहते हैं कि पुलिस भाजपा नेता को बचा कर सामाजिक तौर पर अन्याय की शिकार हो चुकी पीड़िता ओर उसके पिता की बात को नजर अन्दाज कर सत्ताधारी नेताओं की गुलामी कर रही है।

BJP bjp leader
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned