पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ #MeToo अभियान चलाए जाने की मांग, इस बयान ने मचाया हड़कंप

पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ #MeToo अभियान चलाए जाने की मांग, इस बयान ने मचाया हड़कंप

Nitin Srivastva | Publish: Oct, 14 2018 11:59:56 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 11:59:57 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमारी भावनाओं के साथ में रेप किया है...

इटावा. चक्रपाणि महाराज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने देशवासियों के साथ में छल किया है। देशवासियों के लिए भारतीय जनता पार्टी का यह कदम किसी भी तरीके से मी टू से कम नहीं है। भारतीय जनता पार्टी ने राम मंदिर बनाने का वादा किया था लेकिन अभी तक राम मंदिर नहीं बनाया। हम देशवासियों से अपील करेंगे कि वह भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ मी टू अभियान चलाएं क्योंकि इन्होंने हमारी भावनाओं के साथ में रेप किया है।

 

सरकार भूल गई अपना वादा

इटावा के वृंदावन गार्डन में अपने सैकड़ों साथियों के साथ अयोध्या कूच से पहले पत्रकारों से बात करते हुए चक्रपाणि महाराज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने संसदीय चुनाव से पहले बहुत से दावे और वादे किए थे। उनमें से राम मंदिर का निर्माण, धारा 370 का खात्मा, गौरक्षा, एक सैनिक के सिर काटने के बदले दस दस सिर लाने का वादा किया गया था, लेकिन कोई भी दावे और वादे पूरे नहीं हुए। उन्होंने कहा कि गे-कानून का निर्माण करके केंद्र सरकार ने भारतीय संस्कृति को चौपट करने का काम किया है। नोट बंदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि डेढ़ सौ देशवासी नोटबंदी के दौरान मौत का शिकार हो गए, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज तिवारी इन लोगों की मौत पर मजाक उड़ाते हैं।

 

सरकार भूल गई सारे वादे

भाजपा के खिलाफ शुरू किए जाने वाले मी टू आंदोलन के खिलाफ सबसे पहला ट्वीट करने की बात चक्रपाणि महाराज की तरफ से कही गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसदीय क्षेत्र बनारस में जाकर मां गंगा को बचाने का वचन दिया था। उसी गंगा की सफाई और अवैध खनन के खिलाफ आंदोलन पर उतरे स्वामी सानंद की 111 दिन अनशन पर रहने के बाद मौत हो गई, लेकिन सरकार ने कोई दुख बयां नहीं किया। उन्होंने कहा कि देश की सबसे अहम नदी मानी जाने वाली गंगा न केवल राष्ट्र की धरोहर है, बल्कि वह देश की आत्मा भी है। एक पुत्र ने जो मां गंगा की निर्मलता और अविरलता के लिए अपने प्राण छोड़ दिए। जबकि खुद को मां गंगा का पुत्र बताने वाले के पास में उनके लिए दुख व्यक्त करने का समय नहीं है। इससे एक बात साबित हो गई कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार में आने से पहले हिंदुत्व के जिन मुद्दों को लेकर के सत्ता की सीढ़ी चढ़ी थी, उनसे वह पूरी तरह से विमुख हो चुके हैं।

 

कब बनेगा राम मंदिर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में आने के बाद राम मंदिर को पूरी तरीके से भूल गए, लेकिन गोवा में गौ मांस बिकवाते हैं। राम मंदिर की कोई बात नहीं करते लेकिन देश के अलावा दुनिया के दूसरे हिस्सो की मस्जिदों में जाकर अपना शीश जरूर नवाते दिखाई देते हैं। राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी केंद्र की सत्ता में काबिज हुई, लेकिन पीएम के पास वहां जाने के लिए समय नहीं है। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम केवल राजनीतिक का एक मात्र माध्यम बन गए हैं। साढे 4 साल का वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चुका है लेकिन उन्होंने अभी तक राम मंदिर बनाने की दिशा में अपनी नीति स्पष्ट नहीं की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काल में देश की मान प्रतिष्ठा सम्मान इतने नीचे चली गई है जिसकी कोई सीमा नहीं है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned