दबंग प्रधान ने गरीब परिवार पर किया हमला, आठ लोग हुए घायल, प्रधान समेत तीन गिरफ्तार

दबंग प्रधान ने गरीब परिवार पर किया हमला, आठ लोग हुए घायल, प्रधान समेत तीन गिरफ्तार

Neeraj Patel | Updated: 14 May 2019, 07:40:28 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के जसवंतनगर थाना क्षेत्र के ग्राम चंदनपुर में दंबग प्रधान ने गरीब परिवार पर हमला कर आठ लोगों को मरणासन्न कर दिया

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के जसवंतनगर थाना क्षेत्र के ग्राम चंदनपुर में दंबग प्रधान ने गरीब परिवार पर हमला कर आठ लोगों को मरणासन्न कर दिया। इस घटना से पूरे गांव मे सनसनी फैल गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार सुबह 7 बजे दबंग प्रधान ने सेल्समैन सुनील कुमार शाक्य के घर में 6-7 साथियों के साथ मिलकर घर में घुसकर महिलाओं से छेड़छाड़ और लूटपाट की। महिलाओं ने इसका विरोध किया तो दबंग प्रधान ने लाठी डंडों से मारपीट कर किया घायल जिसमें एक ही परिवार के करीब 8 लोगों को घायल किया।

इस हमले में रश्मि पुत्री लालता प्रसाद शाक्य, संजीव कुमार पुत्र अजमेर सिंह, धनवती पत्नी सुनील कुमार, कृष्णा देवी पत्नी लालता प्रसाद, सचिन कुमार पुत्र संजीव कुमार, ईश्वरी देवी पत्नी संजीव कुमार, सुनील कुमार पुत्र लालता प्रसाद, लालता प्रसाद पुत्र विजय सिंह इन सभी लोगों को किया लहूलुहान गांव के लोगों ने सभी घायलों को जसवंतनगर थाना पहुंचाया। जहां पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा। जहां से डॉक्टरों ने हालत नाजुक होने के कारण सभी घायलों को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

जानिए क्या पूरा मामला

गांव के लोगों ने बताया कि दबंग प्रधान अपने साथियों और पुत्र को लेकर सुनील कुमार शाक्य के घर में घुसकर महिलाओं के साथ पूरी तरीके से लाठी डंडों से मारपीट कर दिया। दानवती बताया कि आज सुबह गांव के दबंग प्रधान और अपने साथियों के साथ मिलकर घर में घुसकर लोगों के साथ छेड़छाड़ करने लगे जब इसका विरोध किया और घरवाले चिल्लाने तो दबंग प्रधान ने हमारे साथ लूटपाट और लाठी डंडों से मारपीट कर घायल कर दिया। चीख-पुकार सुनकर परिवार के लोग बचाने के लिए आए तो उनको भी लाठी डंडों से मारपीट कर घायल कर दिया और धमकी देने लगे लड़कियों को उठा ले जाएंगे।

10 मई को जमीन के विवाद को लेकर दोनो पक्षों में विवाद हुआ था जिसकी तहरीर थाने में दी थी मगर पुलिस ने किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की। मंगलवार की सुबह एक पक्ष सुनील पुत्र लालता प्रसाद तथा दूसरा पक्ष कमला चरन पुत्र विजय सिंह के बीच प्रात 8 बजे जमीन की मेढ को लेकर पुनः विवाद हो गया तभी दूसरे पक्ष के कमला चरन की ओर से ग्राम प्रधान संतोष कुमार पुत्र हरगोविंद, चन्द्रबीर उर्फ सिंकू, पुत्रगण संतोष कुमार निवासी शाहजहापुर, अभिषेक पुत्र रामबीर सिंह नगला गुलाल, संदेश कुमार पुत्र चौराम सिंह, निवासी शाहजहापुर, धर्मेन्द्र कुमार व नरेन्द्र कुमार व हरेन्द्र शाक्य व मुकेश कुमार पुत्रगण कमला चरन निवासी चादंनपुर बीबामउ, घर में जवरन घुस आये और रश्मि को छेडखानी करने लगे।

इसका विरोध करने पर उक्त लोगो ने लाठी डंडे व सरियो से मारापीटा जिससे हमारे परिवार के सदस्य कृष्णा देवी पत्नी लालता प्रसाद, दानवती पत्नी सुनील कुमार, रश्मि पुत्र लालता प्रसाद, संजीव कुमार पुत्र अजमेर सिंह, ईश्वर देवी पत्नी संजीव कुमार , सचिन पुत्र प्रदीप कुमार, संध्या पुत्री लालता प्रसाद, तथा लालता प्रसाद पुत्र श्रीराम घायल हुये है। बताते है कि इसी लडाई में प्रधानी की रंजिश भी सामने आई प्रधान संतोष कुमार दूसरे पक्ष ने प्रधानी के चुनाव के दौरान वोट नही दिये थे इसी कारण प्रधान संतोष ने दूसरे पक्ष का साथ देकर अपनी भी रंजिश निकाली। इसकी सूचना जैसे ही पुलिस को मिली मौके पर प्रभारी निरीक्षक शिवशंकर पटेल मए फोर्स के पहुॅच गये और उन्होने घायलो को थाना जसवंतनगर लेकर आये बाद में सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र भेजा जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

मोबाइल कैमरे में कैद हुई घटना

प्रधान और उसके समर्थको की दबंगई का वीडियो गांव के ही एक सख्श ने अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया उसके बाद जैसे ही वो वायरल प्रशासन दंबग प्रधान और उसके समर्थको के खिलाफ कार्रवाई के लिए लामबंद हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि यह दबंग प्रधान 8 माह पहले इसी तरह एक लड़की को जमीन में डालकर तरह मारपीट कर घायल कर चुका है। इस दबंग प्रधान के ऊपर मुकदमा पंजीकृत हैं। हत्या के प्रयास के मामले मे प्रधान संतोष यादव वाछिंत भी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned