शहर में बढ़ रही कॉलेज संख्या, फिर भी घट रहे छात्र

Karishma Lalwani

Publish: Aug, 15 2019 03:00:00 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

इटावा. लगभग 20 लाख की आबादी वाले जनपद में कॉलेजों की संख्या आबादी के अनुपात देखें, तो अन्य जनपदों की अपेक्षा दोगुनी से भी ज्यादा है। यही कारण है कि कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं ढूंढे नहीं मिल रहे हैं। इंटर कॉलेज और महाविद्यालय दोनों की संख्या छात्र-छात्राओं के अनुपात से भी काफी अधिक हो गई है। महाविद्यालयों में लगातार घटती हुई छात्र संख्या को लेकर के इटावा के सबसे प्रमुख के.के. महाविद्यालय की छात्राओं से इस संदर्भ में की गई वार्ता में कई महत्वपूर्ण बातें निकल कर सामने आया।

कई छात्रों ने इस बात को इंगित किया कि कॉलेज में साफ सफाई की व्यवस्था ठीक नहीं। इसका असर छात्र संख्या पर गिरावट के तौर पर देखा जा रहा। वहीं, दूसरा कारण कॉलेजों में होने वाली राजनीति है। कुछ छात्रों ने बताया कि महाविद्यालय या फिर कॉलेजों में छात्र संख्या इस वजह से भी घट रही है कि कई अन्य दूसरे कॉलेजों की भी स्थापना हो रही है। इस कारण जो प्रमुख यहां पर महत्वपूर्ण समझे जाने वाले कॉलेज या महाविद्यालय होते हैं, वहां पर छात्र संख्या घट जाती है।

ये भी पढ़ें: मोबाइल उपयोग पर बोले युवा, सिर्फ शिक्षा से जुड़ी चीजों तक हो इस्तेमाल

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned