scriptUP Etawah Chambal Ghati Natural Beauty on World Environment Day 2022 | आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड की खूबसूरती से कम नहीं चंबल की घाटियां, दहशत की जगह दे रहीं सुकून | Patrika News

आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड की खूबसूरती से कम नहीं चंबल की घाटियां, दहशत की जगह दे रहीं सुकून

World Environment Day 2022: इटावा के चंबल की घाटियां अब किसी विदेशी नजारों से कम नहीं हैं। चंबल नदी के बीच हरियाली दिल को सुकून देती है। दहशत के लिए कुख्यात घाटियां अब अपनी सुंदरता के लिए विख्यात हैं।

इटावा

Updated: June 04, 2022 04:43:07 pm

दशकों तक डाकुओं के लिए कुख्यात चंबल घाटी की नैसर्गिक सुंदरता आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड के खूबसूरत पर्यटन स्थलों से कम नहीं है। लखनऊ केजीमेयू मेडिकल कालेज के निदेशक और इटावा के पूर्व जिलाधिकारी जितेंद्र बहादुर सिंह ने चंबल घाटी की खूबसूरती के बारे में बताते है कि जब इटावा मे तैनात थे, उस समय ऐतिहासिक किले का दीदार करने गये थे। जिसके कुछ फोटोग्राफ उन्होंने साझी की। तस्वीरों को देखने के बाद लोगों से प्रतिक्रिया मिली कि उन्हें ऐसा लगा कि मानों वह आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड घूम रहे हैं। इटावा की तस्वीरें इस बात की गवाह भी हैं।
Etawah Chambal Ghati Natural Beauty on World Environment Day 2022
Etawah Chambal Ghati Natural Beauty on World Environment Day 2022
चंबल की प्राकृतिक और ऐतिहासिक धरोहर को आज न केवल सुरक्षित रखने की जरूरत है बल्कि उसको लोकप्रिय भी बनाना है। निश्चित तौर पर जो प्राकृतिक संपदा मिली है, उसे ईको पर्यटन के तौर पर विकसित करके जिले को नई दिशा दी जा सकती है। अब फिल्मों और वीडियो द्वारा ये दुनियाभर में विख्यात हैं।
यह भी पढ़ें

कानपुर हिंसा में पुलिस ने 35 उपद्रवियों को किया गिरफ्तार, लगेगी रासुका, चलेगा बुलडोजर, सीएम ने कहा...

दहशत की जगह में अब सुकून

पर्यावरणीय संस्था सोसायटी फॉर नेचर के चैयरमैन डा.राजीव चौहान बबाते है कि चंबल घाटी का नाम आते ही शरीर मे सिहरन दौड़ जाती है। क्योंकि ज्यादातर लोग मानते है कि खौफ और दहशत का दूसरा नाम चंबल घाटी है, जबकि हकीकत मे ऐसा नही है। चंबल मे ऊबड़ खाबड़ मिट्टी के पहाड़ों के बीच कलकल बहती चंबल नदी की सुंदरता की कोई दूसरी बानगी शायद ही देश भर मे कहीं और देखने को मिले। नदी सैकडों दुर्लभ जलचरो का आशियाना है जिसमें घडियाल, मगरमच्छ, कछुए, डाल्फिन के अलावा करीब ढाई से अधिक प्रजाति के पक्षी चंबल की खूबसूरती को चार चांद लगाते है।
दुनिया भर के लिए बन रहे आकर्षक स्थान

चंबल फाउंडेशन के संस्थापक शाह आलम बताते है कि उत्तराखंड और कश्मीर की सुंदर वादियों की तरह चंबल की नैसर्गिक सुंदरता किसी का मन मोह सकती है। कश्मीर और उत्तराखंड की सुदंरता देखने के लिये देश दुनिया भर से पर्यटक आते है लेकिन चंबल को अभी वह मुकाम हासिल नहीं हुआ है, जिसका वाकई मे वो हकदार रहा है । पीले फूलों के लिए ख्याति प्राप्त रही यह वादी उत्तराखंड की पर्वतीय वादियों से कहीं कम भी नहीं है। बीहड़ की ऐसी बलखाती वादियां समूची पृथ्वी पर अन्यत्र कहीं नहीं देखी जा सकतीं हैं। चंबल की इन वादियों के प्रति बालीबुड भी मुंबई की रंगीनियों से हटकर इन वादियों की ओर आकर्षित हुए और डकैत, मुझे जीने दो, चंबल की कसम, डाकू पुतलीबाई जैसी फिल्मों ने दुनिया भर के दर्शकों का मनोरंजन किया।
औषधियों का भी है खजाना

चंबल की इन वादियों में अनगिनत ऐसी औषधियां भी समाहित है जो जीवनदान दे सकतीं हैं। यकीनन इन वादियों के इर्द-गिर्द रहने वाले युवकों को रोजगार तो मिलेगा ही बल्कि वादियों की दस्यु समस्या को भी सदा-सदा के लिए दूर किया जा सकेगा और चंबल की यह घाटी समृद्धि होकर विश्व पर्यटन के मानचित्र पर अपना नाम दर्ज कर सकेगी ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्नIndependence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी14 अगस्त को 'विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस' मनाने पर कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- नफरत फैलाने के लिए त्रासदी का दुरुपयोग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.