फसलों के खराब होने से किसान परेशान, सरकार के खिलाफ करेंगे आंदोलन!

छुट्टा पशुओं द्वारा फसल बर्बाद करने से बढ़ गयी है किसानों की परेशानी

By: Mahendra Pratap

Published: 24 Jul 2018, 03:44 PM IST

इटावा. कड़ी मेहनत और महंगी लागत से तैयार की गयी खड़ी फसल के खराब होने से किसान परेशान हैं। इन फसलों को खराब करता है छुट्टा पशुओं का झुंड, जो कि किसानों की बदहाली का कारण बन गए हैं। शासन द्वारा ऐसे पशुओं के नियंत्रण के लिए कोई कदम न उठाने से लोगों में आक्रोश है।

हो रही धान फसलों की बर्बादी

उत्तर प्रदेश किसान सभा के महामंत्री मुकुट सिंह का कहना है कि छुट्टा पशुओं ने खेत में खड़ी मक्का की फसल को खत्म नष्ट दिया है। अब धान की फसल को नुकसान पहुंचा रहे है। कर्ज लेकर खाद बीज की व्यवस्था कर बुवाई किए थे, वो सब खत्म करने मे जुट गये हैं।

9 अगस्त को सुनी जाएंगी किसानों की परेशानी

उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं से नष्ट हो रही फसलों से परेशान किसानों के मुददे को 9 अगस्त को माकपा का जेल भरो आंदोलन में रखा जाएगा। आंदोलन में आवारा पशुओं से निजात पाने का समाधान बताया जाएगा।

मजबूरी में सड़क पर उतर सकते हैं किसान

खडकौली गांव के किसान अमर सिंह का कहना है कि रात दिन मेहनत करके फसल उगाई जाती है। लेकिन एक ही रात में छुट्टा पशुओं का झुंड पूरी मेहनत पर पानी फेर दे रहा है। ऐसे तो हम गरीब किसान रोटी के लिए मोहताज हो जाएंगे।

अकबरपुर गांव के वीरेंद्र सिंह का कहना है कि सब्जी की खेती पशुओं के आतंक के कारण घाटे का सौदा होने के कारण खासी तादात मे प्रभावति हो रही है। अब अन्य फसलों को भी ये आवारा पशु नष्ट कर दे रहे हैं। यही स्थिति रही, तो किसान खेती को बंद कर अन्य रोजगार को करने के लिए विवश है। किसान राजेंद्र कुमार ने कहा कि अगर सरकार आवारा पशुओं पर अंकुश नहीं लगाती है, तो किसान अब सड़क पर उतरने को मजबूर हो जाएगा। इटावा के सैफई,भर्थना,चकरनगर,जसंवतनगर,महेवा,ताखा,बढपुरा,बसरेहर सभी ब्लाको के किसान इस स्थित से खासे प्रभावित नजर आ रहे हैं।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned