हाईटेंशन पोल पर चढ़े युवक का तमाशा, पुलिस को 5 घंटे तक छकाता रहा, फिर रात के अंधेरे में हुआ फुर्र

हाईटेंशन पोल पर चढ़े युवक का तमाशा, पुलिस को 5 घंटे तक छकाता रहा, फिर रात के अंधेरे में हुआ फुर्र

Nitin Srivastava | Publish: Sep, 03 2018 09:12:20 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

युवक को पोल पर चढ़ता देख इलाके में हड़कंप मच गया...

इटावा. डाकुओं पर बनी देश की सबसे अहम फिल्म शोले में बंसती की चाहत में धर्मेंद्र ने पानी की टंकी पर चढ़कर किए गए नाटक को हर कोई अभी भी भूला नहीं है। कुछ इसी तर्ज पर उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के उसराहार इलाके के एक गांव में एक युवक हाईटेंशन बिजली के खंभे पर 5 घंटे तक चढ़ा रहा, लेकिन जैसे ही पॉवर सप्लाई गई वैसे ही वह खंभे से उतर कर भाग गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए वह वहां से भाग निकला।

 

हाईटेंशन पोल पर चढ़ा युवक

रविवार की दोपहर के बाद ऊसराहार थाना क्षेत्र के हिंदूपुर बैदपुर गांव में उस समय हड़कंप मच गया, जब गांव के पास से निकल रही हाईटेंशन लाइन के ऊपर हिंदूपुर निवासी अनिल यादव पुत्र राम रतन 26 वर्ष अचानक चढ़ गया। जैसे ही ग्रामीणों ने उसे हाईटेंशन पोल के ऊपर चढ़ते हुए देखा तो लोगों ने उसे रोकने की कोशिश की, लेकिन जैसे ही लोग पोल के नजदीक पहुंचे तो अनिल यादव पोल पर और ऊपर चढ़ने लगा। लोगों को पोल के पास न आने की धमकी दी।

 

मनाने में जुटे रहे पुलिसवाले

घटना की सूचना पाकर थानाध्यक्ष ऊसराहार योगेंद्र शर्मा पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और 3 घंटे तक पोल पर चढ़े घर से नाराज युवक अनिल यादव को मनाने की कोशिश करते रहे। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंचे परिजनों ने भी अनिल से नीचे उतरने की गुहार लगाई, लेकिन अनिल यादव ने किसी भी व्यक्ति की एक नहीं सुनी। कुछ लोगों ने नीचे से पोल पर चढ़कर अनिल यादव को उतारने की कोशिश की लेकिन जैसे ही ग्रामीणों ने पोल पर चढ़ना शुरू किया, वैसे ही अनिल यादव पोल के ऊपर चढ़ने लगा और लोगों को तार से चिपक कर मर जाने की धमकी देने लगा। जिससे पोल पर चढ़ रहे सभी लोग वापस हो गए।

 

लाइट कटते ही भाग निकला युवक

पुलिस काफी देर मनाने का प्रयास करती रही। देर शाम तक युवक पोल पर चढ़ा हुआ था। पूरा मामला 4 घंटे तक चलता रहा और पोल पर चढ़े युवक ने पुलिस और ग्रामीणों को खूब छकाया लेकिन वह नीचे नहीं उतरा। वही इतना सब होने के बाद भी मौके पर तहसील प्रशासन की ओर से कोई भी कर्मचारी या अधिकारी नहीं पहुंचा और न ही विद्युत लाइन का शटडाउन कराया गया। युवक की जान विद्युत प्रभाव होने के कारण लगातार खतरे में पड़ी हुई थी। देर शाम के बाद भी युवक किसी भी सूरत में उतरने को तैयार नहीं था। फिर अचानक जैसे ही पॉवर सप्लाई गई वैसे ही वह खंभे से उतर कर भाग गया। वहीं थानाध्यक्ष योगेंद्र शर्मा ने बताया कि अनिल यादव से लगातार संपर्क कर उसे उतारने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन वह अपनी कोई मांग भी नहीं रख रहा था और नीचे भी नहीं उतर रहा था। फिर अचानक बिजली सप्लाई कटने के बाद पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए वह वहां से भाग निकला।

Ad Block is Banned