टला बड़ा हादसा: दिल्ली- हावड़ा रेलवे ट्रैक की टूटी ग्लू ज्वाइंट पर रात भर दौड़ती रहीं ट्रेनें 

स्टेशन मास्टर के अनुसार दोपहर करीब पौने दो बजे टूटे ग्लू ज्वाइंट समेत करीब तीन मीटर लंबी नई पटरी लगाकर यातायात को पूरी तरह बहाल कर दिया गया।

By: Hariom Dwivedi

Published: 11 Jun 2016, 11:35 PM IST

इटावा. भरथना दिल्ली- हावड़ा रेलवे ट्रैक पर अप लाइन की टूटी ग्लू ज्वाइंट पर पूरी रात ट्रेनें दौड़ती रहीं। गनीमत रही कि बड़ी ट्रेन दुर्घटना होते टल गई। ग्लू ज्वाइंट ब्रोकन की सूचना से रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया। रेल प्रशासन ने इंजीनियर की मदद से करीब 7 घंटे में पटरी दुरुस्त कर यातायात बहाल किया। इससे पूर्व उक्त ट्रैक पर दो राजधानी, दो गरीब रथ, एक शताब्दी समेत एक दर्जन से अधिक सुपर फास्ट ट्रेनें व मालगाड़ियां गुजरती रहीं। 

दिल्ली-हावड़ा रेलवे ट्रैक स्थित भरथना के स्टेशन मास्टर मनोज कुमार ने बताया कि शनिवार की सुबह करीब 6 बजे के आसपास लखनऊ से दिल्ली जा रही सुपर फास्ट एक राजधानी एक्सप्रेस के गुजरने के बाद लाइनमैन ने खम्भा नंबर 1137/17 व 1137/19 के मध्य अप लाइन पर ग्लू ज्वाइंट टूट जाने की खबर स्थानीय रेल प्रशासन को दी। जिससे कंट्रोल रूम को तत्काल अवगत कराया गया और सीनियर सेक्सन इंजीनियर वीके साहू के निर्देशन में रेल कर्मचारियों ने ब्रोकन ग्लू ज्वाइण्ट पर काम शुरू कर दिया गया।

इसी बीच उक्त रेलवे ट्रैक की अप लाइन पर 30 किमी के कॉसन पर 2313 दूसरी सुपर फास्ट राजधानी, 22823 गरीब रथ, 2033 शताब्दी, 2877 गरीब रथ एक्सप्रेस समेत करीब एक दर्जन सवारी गाड़ियों को स्टेशन पर रोक कर रवाना किया गया

उन्होंने बताया कि ग्लू ज्वाइंट ब्रोकन अर्थात पटरी चटकना सामान्य प्रक्रिया है। रेल प्रशासन द्वारा समय रहते तत्काल दुरुस्त कराकर यातायात को जारी रखने के साथ बहाल किया जाता है। स्टेशन मास्टर के अनुसार दोपहर करीब पौने दो बजे टूटे ग्लू ज्वाइंट समेत करीब तीन मीटर लंबी नई पटरी लगाकर यातायात को पूरी तरह बहाल कर दिया गया।
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned