सामने आई स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, कूड़ेदान में मिली दवाइयां

एक बार फिर इटावा में स्वास्थ्य विभाग की पोल खुलती नजर आ रही है। 

By: आकांक्षा सिंह

Published: 11 Sep 2017, 11:31 AM IST

इटावा. एक बार फिर इटावा में स्वास्थ्य विभाग की पोल खुलती नजर आ रही है। प्रदेश में सरकारी चिकित्सालयों में मरीजों को दवाइयां मुफ्त में मुहैया कराई जाती हैं, लेकिन यह दवाइयां मरीजों को न मिलने के कारण बहुत से मरीजों को अपनी जान गवानी पड़ती है। दवाइयों के कारण बहुत से मरीज मौत के मुंह में चले जाते हैं।

जिले में एक ऐसा नजारा देखने को मिला जिसे  देखकर आप भी दंग रह जाएंगे। यहां मरीजों के लिये आई दवाइयां कूड़ेदान में पड़ी हुई मिली। इटावा जिला के भरथना तहसील परिसर के कूड़ेदान में सरकारी दवाओं का जखीरा देखने को मिला। यह दवाएं जिला चिकित्सालय से भरथना इलाके की आंगनबाड़ी केंद्रों के लिये भेजी गई थी। अब ये सभी सरकारी दवाएं किसने कूड़ेदान के हवाले की हैं यह एक गम्भीर बात है। इस मामले में सीएमओ ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

वहीं इटावा के मुख्य चिकित्साधिकारी से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने जांच कहने की बात कही है और बताया कि यह मामला मेरे संज्ञान मैं आया है कि तहसील परिसर मैं कूड़े के ढेर में यह दवाइयां पाई गई हैं। जांच के लिए टीम भेज दी गई है। वहां पर संज्ञान में लाया गया है कि वहां पर आयरन फोलिक टैबलेट और लिपिक के रजिस्टर पाए गए हैं। आपको बताना चाहेंगे की रजिस्टर और टैबलेट आंगनवाड़ी केंद्र में वितरित किए जाते हैं और स्कूलों में भी वितरित किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि वहां के सुपरवाइजर से हमारी बात हुई है। वहां पर है सारे टेबलेट्स और रजिस्टर वितरित करा दिए गए हैं। यह पता किया जा रहा है यह सारी दवाएं और रजिस्टर किस आंगनवाड़ी केंद्र के हैं। जांच में जैसे ही पता चलता है कि यह काम किस आंगनबाड़ी केंद्र का है वैसे ही हम उस आंगनबाड़ी केंद्र के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned