सपा की लाल टोपी लगाकर योगी सरकार को बर्खास्त कराने की लगाई थी गुहार, डीजीपी ने लिया बड़ा एक्शन

- नोएडा पीएसी बटालियन में तैनात जवान ने कहा- बर्खास्त हो योगी सरकार
- उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह (ओपी सिंह) ने किया बर्खास्त
- सिपाही का बयान- नौकरी से ज्यादा देश महत्वपूर्ण

इटावा. उत्तर प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग करने वाले पीएसी के जवान को डीजीपी ओपी सिंह ने बर्खास्त कर दिया है। शुक्रवार को पीएसी में तैनात जवान मुनेश यादव पुलिस की वर्दी और समाजवादी पार्टी की लाल टोपी लगाकर जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचा था। तैनात सुरक्षाकर्मियों के अलावा अन्य स्टाफ ने उसे गेट पर ही रोक दिया तो उसने मौजूद पत्रकारों के समक्ष कई गंभीर आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

सोशल मीडिया पर सिपाही की तस्वीर तेजी से वायरल हुई तो हंगामा मच गया। इटावा पुलिस से पूरे मामले की खुफिया रिपोर्ट लखनऊ तलब की गई। रिपोर्ट के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए पीएसी जवान को बर्खास्त कर दिया गया है। बर्खास्तगी के अलावा सिपाही के खिलाफ अनुशासनहीनता को लेकर विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : गरीब आदिवासी परिवार के लिए मसीहा बना यह पुलिसवाला, तारीफ करते नहीं थक रहे लोग, काम जानकर आप भी कहेंगे वाह-वाह

 

देखें वीडियो...

UP Police

इटावा के पुलिस अधीक्षक बोले
इटावा के पुलिस अधीक्षक नगर डॉ. रामयश सिंह ने बताया कि शुक्रवार को इटावा कचहरी में पीएसी जवान एक राजनीतिक दल की टोपी लगा कुछ अजीबो-गरीब बयान दे रहा था, जिसकी रिपोर्ट शासन स्तर तक भेजी गई। इसके बाद पीएसी जवान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई अमल में लाई गई। निटावी निवासी मुनेश यादव नोएडा पीएसी बटालियन में तैनात था।

सिपाही ने कहा- नौकरी से ज्यादा देश महत्वपूर्ण
मुनेश यादव ने कहा कि इस समय देश में जो हालात है, उसे देखकर वह बहुत दुखी है। राज्य में कानून-व्यवस्था चौपट और भ्रष्टाचार चरम पर है। बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनायें लगातार बढ़ रही हैं। इसलिए अब इस सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। मुनेश ने कहा कि मेरे लिए नौकरी से पहले देश है। इसलिए मैंने अपनी आवाज उठाई है।

यह भी पढ़ें : सपा सरकार में मुलायम के खास रहे इस मंत्री की बढ़ी आफत, सीबीआई ने मारा छापा, बड़े एक्शन की तैयारी

 

 

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned