पुलिस ने छापेमारी के दौरान छत से फेंका युवक, दोनों पैर टूटे

Ruchi Sharma

Publish: Jul, 13 2018 03:56:56 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
पुलिस ने छापेमारी के दौरान छत से फेंका युवक, दोनों पैर टूटे

पुलिस ने छापेमारी के दौरान छत से फेंका युवक, दोनों पैर टूटे

इटावा. योगी राज में पुलिस की छवि सुधरने का नाम नहीं ले रही है । पुलिस ने छोपमारी के दौरान एक शख्स का छत से फेंक दिया है जिससे उसके दोनों पैर टूट गये है ।


यह सनसनीखेज मामला उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के चौबिया थाना क्षेत्र के नगला भूटा का है । जहां पर वही के रहने वाले राजीव कुमार को थाना प्रभारी चौबिया ने छत से नीचे फेंक दिया । जिस कारण उसकी दोनों टांगे टूट गयी। पीड़ित ने एसएसपी से थानाध्यक्ष को शिकायती प्रार्थना पत्र देते हुए एसओ पर मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है ।
पीड़ित ने एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी को प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि सोमवार को एसओ चौबिया सतीश यादव हमराह सिपाहियों के साथ उसके घर पहुंचे और घर में घुसते हुए उसके साथ मारपीट की ।

 

जब उसने बचाव का प्रयास किया तो उन्होंंने उसे मकान की छत से नीचे फेंक दिया। जिससे उसके दोनों पैर टूट गए। चीख पुकार पर हाकिम सिंह की पत्नी उसका पुत्र सुनील गांव के मनीष विपिन मौके पर पहुंचे। इन लोगों ने उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे सैफई पीजीआई के लिए रेफर किया। दोनों पैरों में प्लास्टर चढ़ा होने के बाद पीड़ित गुरूवार को एसएसपी आफिस पहुंचा। उनसे मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग। उसने बताया कि थानाध्यक्ष ने उसे शिकायत करने पर झूठे मामले में फंसाने की धमकी दी है ।


इटावा के एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने पीड़ित घायल को आश्वासन देते हुए कहा कि घटना की जांच सीओ सैफई निर्मल चन्द्र बिष्ट को सौंपी गई है । जांच में अगर एसओ चौबिया दोषी पाये जायेगें तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी । एसएसपी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच में दोषी पाये जाने पर एसओ पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है ।

Ad Block is Banned