मोदी ने अच्छे दिन का सपना दिखा कर जनता को दिखाये बुरे दिन : रामगोपाल यादव

मोदी ने अच्छे दिन का सपना दिखा कर जनता को दिखाये बुरे दिन : रामगोपाल यादव

Neeraj Patel | Publish: Apr, 26 2019 07:03:52 PM (IST) | Updated: Apr, 26 2019 07:03:53 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने मोदी सरकार को लेकर किया बड़ा दावा

- 2014 मे देश वासियों को अच्छे दिन का सपना दिखाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अच्छे दिन की बात करना भी मुनासिब नहीं समझते।

इटावा. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने दावा किया है कि 2014 मे देश वासियों को अच्छे दिन का सपना दिखाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अच्छे दिन की बात करना भी मुनासिब नहीं समझते क्योंकि अच्छे दिन के बजाय जनता को बुरे दिन भाजपा ने दिखाये हैं। यादव आज इटावा में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के एक कार्यक्रम में डाक्टरों को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रचार के दरम्यान अब अच्छे दिन की बात करना पूरी तरीके से भूल चुके हैं क्योंकि उनको एहसास इस बात का हो चुका है कि अच्छे दिन का नारा अब कोई सुनना नहीं चाहता है।

नरेंद्र मोदी के खिलाफ आक्रोश व्यक्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि मोदी के कार्यकाल में केंद्र सरकार ने ऐसी कोई योजना प्रस्तावित नहीं की है जो जनहितकारी हो बल्कि जितनी भी योजनाएं क्रियान्वित की गई है वह सभी की सभी जनता के खिलाफ ही रही है। इसी वजह से चुनाव प्रचार के दरम्यान इस बात का एहसास उनके संवाद से स्पष्ट होता हुआ अभी दिखाई दे रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जहां साल 2014 में खुद नरेंद्र मोदी अपने संबोधन में आम जनता के बीच अच्छे दिन लाने की बात बड़े स्तर पर उठाया करते थे। आज वह बात पूरी तरीके से भूल चुके हैं। उन्होंने कहा कि अच्छे दिन के अलावा काले धन को वापस लाने का मुद्दा और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात भी अपने ढंग से प्रधानमंत्री रखा करते थे लेकिन अब इन सब बातों से खुद प्रधानमंत्री ने दूरी बना ली है।

नोट बंदी से 1 दिन में 4 करोड़ लोग हुए बेरोजगार

इन सब बिंदुओं से दूरी बनाने के चलते यह बात अब आम हो चली है कि भारतीय जनता पार्टी कि मोदी सरकार 2019 के संसदीय चुनाव के बाद किसी भी सूरत में सत्ता हासिल नहीं कर पाएगी। रामगोपाल यादव ने दावा किया कि जिस तरीके की सूचनाएं सामने आ रही है उसके मुताबिक भारतीय जनता पार्टी और उनके सहयोगी दल 205 सीटों को हासिल कर सकते हैं। ऐसे में सरकार कैसे बनेगी यह बड़ा सवाल खड़ा होता दिख रहा है। नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि नोट बंदी से 1 दिन में 4 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं। सरकार इस बात को भली-भांति जानती है लेकिन नोट बंदी की चर्चा करना कतई मुनासिब नहीं समझती है जबकि हकीकत में नोटबंदी देश के लिए एक बड़ा धर्मसंकट बनकर के सामने आया है।

नरेश अग्रवाल जैसे बोलने वालों की जुबान बंद

लोकतंत्र में जनता को सरकार से सवाल पूछने का अधिकार होता है लेकिन मोदी ने वो अधिकार जनता से छीन लिया है। अब अगर कोई सरकार से सवाल करता है तो उसे देशद्रोही बता कर जेल भेज दिया जाता है। अगर कोई अमीर आदमी सवाल पूछता है तो उसके यहां इनकम टैक्स का छापा पड़ जाता है। यहां तक कि संसद में भी बोलने का अधिकार छीन लिया है। पहले संसद में जाते थे तो सुबह लोग देश के नाम संबोधन करते थे अब मोदी ने इस पर रोक लगा दी है। नरेश अग्रवाल जैसे बोलने वालों की जुबान बंद ही गई है।

बीजेपी की जमानत जब्त हो जाएगी

केंद्र सरकार के पूरे कार्यकाल में इतने सैनिक मारे गए जितने 15 साल में नहीं मरे। प्रधानमंत्री बनने पहले बीजेपी वाले कहते थे कि मोदी प्रधानमंत्री बने तो लाहौर पर हमारा कब्ज़ा होगा लेकिन क्या हुआ यह सब जानते है। बिहार में कन्हैया कुमार के सामने गिरिराज सिंह चुनाव लड़ रहे है लेकिन वहां बीजेपी की हालत इतनी खराब है कि बीजेपी की जमानत जब्त हो जाएगी। कन्हैया कुमार के रूप मे देश को एक नया नेता मिल जाएगा। इस मौके पर आईएमए से जुडे हुए तमाम डाक्टरों ने उनको स्वागत किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned