इटावा में जोरदार तरीके से मनाई गयी श्री कृष्ण भगवान की छठी

इटावा में जोरदार तरीके से मनाई गयी श्री कृष्ण भगवान की छठी

Abhishek Gupta | Publish: Sep, 08 2018 10:19:35 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

छैराहा स्थित वृंदावन धाम श्रीराधा बल्लभ मंदिर पर शनिवार को ठाकुर जी का छठी उत्सव श्रद्धाभाव के साथ हर्षोल्लास से मनाया गया।

इटावा. छैराहा स्थित वृंदावन धाम श्रीराधा बल्लभ मंदिर पर शनिवार को ठाकुर जी का छठी उत्सव श्रद्धाभाव के साथ हर्षोल्लास से मनाया गया। छठी उत्सव के साथ ही छह दिवसीय श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव भी सम्पन्न हो गया। श्रीधाम की परम्परा के अनुसार भगवान को कड़ी भात के साथ विभिन्न प्रकार के पकवानों का भोग लगाया गया। फूलों व गुब्बारों से सजे धजे पालने में जब श्री लाल जू को विराजमान किया गया तो इसके बाद भक्तों में पालना झुलाने के लिए होड़ मच गई। मंदिर में भजन कीर्तनों की धूम रही। महिलाएं व बच्चे छठी उत्सव में जमकर थिरके। राधाबल्लभ लाल व राधारानी का मनमोहन श्रंगार भी हुआ। श्रृंगार दर्शनों के लिए मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ रही। मंदिर को फूलों व बिजली की रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया था।

श्री राधा बल्लभ मंदिर पर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर षष्टम दिवसीय उत्सव 03 सितम्बर को भगवान के महाभिषेक के साथ शुरु हुआ था। तब से यहां पर प्रतिदिन कार्यक्रम आयोजित हो रहे थे। छठी उत्सव के साथ जन्माष्टमी उत्सव
का समापन हो गया। छटी पर श्रीलाल जू का नए वस्त्र धारण कराने के बाद विशेष पूजन अर्चन किया गया। इसके साथ भगवान को कड़ी भात के अलावा विभिन्न प्रकार के पकवान का भोग अर्पित किया गया। ठाकुरजी के लिए फूलों व गुब्बारों से सजा धजा विशेष झूला भी सजाया गया था।

मंदिर के महंत गोस्वामी प्रकाशचन्द्र महाराज ने भगवान को पालने में विराजमान किया। इसके बाद बारी-बारी से श्रद्धालुओं ने ठाकुरजी को झूला झुलाया। इस दौरान भजन कीर्तनों की भी धूम रही। महिलाएं व बच्चे धार्मिक गीतों पर जमकर थिरके। वहीं भक्तों में ठाकुरजी को फल, फूल, मेवा, खिलौने, वस्त्र, बिस्कुट, टॉफी भी अर्पित किए। वहीं भजन कीर्तनों के बीच जमकर लुटाई भी की गई। मंदिर के महंत गोस्वामी प्रकाश चन्द्र महाराज ने भक्तों को लड्डू गोपाल
की महिमा बताते हुए कहा कि जिस पर भगवान लड्डू गोपाल का प्रवेश हो जाता है। वह घर भगवान का ही हो जाता है। सभी को यह मानना चाहिए कि यह भगवान का घर है और लड्डू गोपाल घर के एक सदस्य हैं। घर के सदस्यों की तरह ही भगवान का ध्यान रखना चाहिए। जो लोग ऐसा करते हैं उन्हें भगवान की कृपा प्राप्त होती है। इससे भगवान जल्द ही प्रसन्न होते हैं उन्होंने यह भी कहा कि इस कलियुग में भगवान कृष्ण नाम का कीर्तन ही एकमात्र साधन है। जिसके करने से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है। कार्यक्रम के बाद भक्तों को कड़ी भात का प्रसाद भी वितरित किया गया।

Ad Block is Banned