सांसद तेजप्रताप सिंह यादव को लड़ाया जाएगा विधानसभा चुनाव, लेकिन सीट अभी स्पष्ट नहीं

सांसद तेजप्रताप सिंह यादव को लड़ाया जाएगा विधानसभा चुनाव, लेकिन सीट अभी स्पष्ट नहीं

Neeraj Patel | Publish: Feb, 13 2019 04:32:30 PM (IST) | Updated: Feb, 13 2019 04:58:50 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ ससंदीय सीट के बजाय मैनपुरी सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा के चलते सांसद तेजप्रताप सिंह यादव की सीट खतरे में पड़ गई है।

इटावा. समाजवादी पार्टी के मौजूदा वक्त मे पांच सांसद है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव आजमगढ, अक्षय यादव फिरोजाबाद, बदांयू से धर्मेंद्र यादव और मैनपुरी से तेजप्रताप सिंह यादव सांसद है लेकिन सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ ससंदीय सीट के बजाय मैनपुरी सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा के चलते सांसद तेजप्रताप सिंह यादव की सीट खतरे में पड़ गई है। वैसे तो नेता जी के नाम की अभी तक केवल चर्चाएं ही चल रही थी लेकिन पहली दफा खुद पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से नेता जी की इच्छा को सार्वजनिक किया गया।

मैनपुरी से समाजवादी पार्टी के सांसद और अपने भतीजे तेज प्रताप यादव को संसदीय चुनाव में एडजस्ट करने के मुद्दे पर पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ से संकेत किया गया कि उनको विधानसभा चुनाव में उतारा जाएगा लेकिन फिलहाल उनकी तरफ से किसी भी सीट का इशारा नहीं किया गया है। सोमवार को सैफई आए पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव सपाईयों के सांसद तेजप्रताप सिंह यादव को एडजेस्ट करने के मुददे पर इस बात की तस्दीक की गई कि अब मैनपुरी संसदीय सीट से नेताजी चुनाव लड़ेंगे।

नेताजी ने मैनपुरी संसदीय सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई

पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने पिता नेता जी मुलायम सिंह यादव की इच्छा का जिक्र करते हुए कहा कि नेताजी ने मैनपुरी संसदीय सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। हम सब उनकी इच्छा का तो पालन करेंगे ही उनको रिकॉर्ड मतों से भी जिताएंगे उन्होंने कहा कि गठबंधन के तहत कम से कम 7 लाख वोट तो उनको मिल ही जाना चाहिए लेकिन हम चाहते हैं कि कम से कम नेताजी को 10 लाख के आसपास वोट हासिल हो इसलिए अभी से पूर्ण मुस्तैदी के साथ में सभी कार्यकर्ता नेताजी को रिकॉर्ड मतों से जिताने की प्रक्रिया में जुट जाएं।

मुलायम सिंह इन दोनों सीटों से हुए थे विजयी

2014 की मोदी लहर मे मुलायम सिंह यादव मैनपुरी और आजमगढ दोनों संसदीय सीटों से विजई हुए थे। दोनों सीटों से जीतने के कारण मुलायम सिंह यादव ने मैनपुरी के मुकाबले आजमगढ सीट को अधिक वरीयता दी। मैनुपरी संसदीय सीट से वैसे तो कईयों दावेदार थे लेकिन मुलायम परिवार की ओर से अंतिम समय में तेजप्रताप सिंह यादव के नाम पर मुहर लगाई गई। मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र मुलायम परिवार के लिए उच्च स्तरीय राजनीति में जाने के लिए डिग्री कालेज सरीखा है। मुलायम सिंह यादव स्वयं यहॉ से सांसद रहे हैं। उनके भतीजे धर्मेन्द्र यादव भी यहॉ से सांसद रहे हैं और उसके बाद तेजप्रताप सिंह यादव भी सांसद बन गए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned