scriptपत्रिका एक्सक्लूसिव : अब चंबल घाटी में सिर्फ रह गई हैं डाकुओं के फरमानों की यादें | untold story of etawah daku during election | Patrika News

पत्रिका एक्सक्लूसिव : अब चंबल घाटी में सिर्फ रह गई हैं डाकुओं के फरमानों की यादें

- संसदीय चुनाव की डुगडुगी बजनी शुरु हो गई है।

- चंबल में डाकू फरमानों की चर्चा किये बिना नहीं रहा जा सकता है।

- "मुहर लगाओ वरना गोली खाओ छाती पर" कभी चंबल घाटी में चुनाव के दौरान ऐसे नारो की गूंज हुआ करती थी लेकिन आज इस तरह के नारे इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गए हैं

इटावा

Updated: April 25, 2019 01:47:22 pm

lucknow

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.