अंतर्राज्जीय बाइक चोरों का किया पर्दाफाश, शातिर चोर पुलिस चैकिंग से बचने के लिए लेते थे महिला का सहारा

हैडर_अंतर्राज्जीय बाइक चोरों का किया पर्दापाश,शातिर चोर पुलिस चैकिंग से बचने के लिए लेते थे महिला सहारा। 14 शातिर चोरों में एक महिला भी शामिल।

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में पुलिस ने बड़ी संख्या में चोरों से बाइकें बरामद की । पुलिस ने जिस अंतर्राष्टीय जिस अंतरराज्जीय गैंग का पर्दाफाश करने का दावा किया है, उस गैंग में पुराने शहर के विभिन्न मोहल्ले के युवा हैं। इनके चेहरे से नकाब उठने के बाद चोरी के शातिराना अंदाज का भी खुलासा हुआ है। पुलिस की चेकिंग से बचने के लिए वे गैंग में एक महिला को भी शामिल किए थे, चोरी की गई बाइक पर महिला को बैठा कर निकलते थे । जिससे पुलिस उन्हें पकड़ न सके ।

चोरी की बाइक पर बैठाकर पुलिस की आंखों में धूल झोंककर फुर्र हो जाते थे। दरअसल, पुलिस वाहन चेकिंग के दौरान अमूमन उन बाइकों को नजर अंदाज कर देती है, जिस पर महिला सवारी बैठी हो।

 

बाइक चुराने वाले गैंग में एक कर्नाटक का युवक

 

आपको बताते चले कि बाइक चुराने वाले गैंग में एक कर्नाटक का युवक भी शामिल है । पुलिस ने 14 बाइकर्स गैंग को अपनी गिरफ्त में लिया है । जिसमें एक महिला भी शामिल है । यह महिला चोरी की गई बाइक पर बैठ कर निकलती थी , जिससे कि पुलिस इन पर कोई संदेह न कर सके , और आसानी से पुलिस की आखों में धूल झोंक कर रफू चक्कर हो जाते थे ।

 

पकड़े गए चोर इस प्रकार है

 

गिरफ्तार किए गए गैंग के 14 सदस्यों में सचिन राजशेखर पुत्र राज निवासी यदुवंशनगर थाना फ्रेंडस कालोनी इटावा मूल रूप से ग्राम मरमनाडी थाना गणेश पेड जिला हास्पेट कर्नाटक का रहने वाला है। वह दिल्ली से कोलकाता चलने वाले ट्रक में हेल्पर था। गैंग के सदस्यों के संपर्क में आकर वह भी बाइकें चुराने लगा था, और तब उसने हेल्परी छोड़ दी। पल्लवी उर्फ लक्ष्मी पत्नी अजय उर्फ लल्लू निवासी कांशीराम कालोनी राहतपुरा थाना सिविल लाइन इटावा । गैंग का सरगना सनी पुत्र अशोक जाटव निवासी अस्तल मंदिर लालपुरा विवेक जाटव पुत्र रामआसरे निवासी बरहीपुरा, आशीष उर्फ आशू पुत्र स्व. धर्मेंद्र जाटव निवासी बरहीपुरा, अल्ताफ पुत्र इदरीश निवासी नखासा, अजय उर्फ लल्लू पुत्र स्व. ज्ञानचंद्र कुशवाह निवासी नखासा, शिवम पुत्र सुरेश प्रजापति निवासी लुहन्ना चौराहा थाना सिविल लाइन मूल निवासी बरहीपुरा, नरेश पुत्र मुलायम ¨सह बाथम निवासी नगला रामफल, रमजान पुत्र मुस्ताक निवासी कटेखेड़ा जसवंतनगर, अंकुश पुत्र अनिल कुमार जाटव, रामू पुत्र कैलाश बाबू शर्मा व मान ¨सह पुत्र राम सिंह दिवाकर निवासीगण कांशीराम कालोनी राहतपुरा सिविल लाइन, संजय पुत्र मान ¨सह कठेरिया निवासी कैलामऊ थाना बसरेहर हैं। गैंग के जो दो सदस्य भाग जाने में सफल रहे हैं । उनमें विकास बाथम पुत्र नरेंद्र निवासी कांशीराम कालोनी राहतपुरा सिविल लाइन और राजा कबाड़ी निवासी उर्दू मोहल्ला हैं।

 

एसएसपी वैभव कृष्ण ने पुलिस टीम को दिया 10 हजार का पुरस्कार

 

वही इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने पुलिस टीम को दस हजार रुपए पुरस्कार दिया । पुरस्कृत में उप निरीक्षक सतेन्द्र यादव प्रभारी स्वाट, आरक्षी उदयपाल सिंह, कपिल कुमार, विनय कुमार, संजीव सिंह,गयेन्द्रमिश्रा, रविन्द्र कुमार,भोलू सिंह भाटी, युनिस अली और महिला आरक्षी अंशू गौतम शामिल है ।

 

वही एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि यह जनपद इटावा में बहुत भारी मात्रा में चोरी की मोटर साइकिल बरामद हुई है । 30 मोटर साइकिल और एक स्कूटी व एक मोटर साइकिल के कटे हुए पार्ट्स है । कुल मिला कर 32 दो पहिला वाहन बरामद किए गए, और 14 सदस्यीय गैंग को पकड़ा गया है , जिसमें एक महिला भी शामिल है, और एक बाहर का जो रहने वाला कर्नाटक है । यह गैंग में एक महिला को भी रखते थे । जिससे चोरी की गई बाइकों को पुलिस को चकमा देकर निकला जा सके ।

 

 

 

 

 

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned