नेता जी के लिए वोट डालने में एक साथ नहीं दिखा यादव परिवार, सभी ने बताए अलग-अलग कारण

नेता जी के लिए वोट डालने में एक साथ नहीं दिखा यादव परिवार, सभी ने बताए अलग-अलग कारण

Neeraj Patel | Publish: Apr, 23 2019 09:18:16 PM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 10:14:55 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

यादव परिवार काफी हद तक अपने अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए एक साथ आया करते है लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ

 

इटावा. लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश के इटावा में समाजवादी पार्टी (सपा) संस्थापक मुलायम सिंह यादव के मैनपुरी संसदी सीट के चुनाव मे मतदान के दौरान यादव परिवार मे एकता देखने को नहीं मिली। यादव परिवार काफी हद तक अपने अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए एक साथ आया करते है लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। जहं प्रो.रामगोपाल यादव, अपने बेटे और बहू के साथ सबसे पहले सुबह 7 बजे वोट डालने आये वहीं मुलायम, साधना, अर्पणा, अखिलेश, डिपंल, तेज प्रताप, राजलक्ष्मी, अनुराग, अभिलाषा, प्रेमलता, कमलादेवी, अंजट सिंह, दोपहर 12 बजे के आसपास और शिवपाल सिंह, सरला, आदित्य, राजलक्ष्मी, अनुभा शाम 6 बजे के आसपास वोट डालने गए।

 

Yadav family not show together for leader mulayam in matdan

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव सैफई स्थित अभिनव स्कूल में बनाये गये मतदान केन्द्र पहुंचे जहां पहले से मौजूद उनके बेटे एवं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहू डिंपल यादव ने पांव छूकर आर्शीवाद लिया। यादव के साथ पत्नी साधना यादव और छोटी बहू अपर्णा यादव के अलावा तेज प्रताप भी मौजूद थे। बाद में परिवार के सभी सदस्यों ने एक एक कर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। बता दें कि सबसे पहले सुबह 7 बजे इस मतदान केंद्र पर समाजवादी पार्टी के प्रमुख महासचिव प्रो.रामगोपाल यादव अपने बेटे अक्षय यादव और बहु डा.रिचा यादव के साथ मतदान करने के लिए पहुंचे। इस दौरान प्रो.यादव ने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि इस बार हो रहा चुनाव भाजपा और गठबंधन के बीच का चुनाव है ।देश में परिवर्तन होने जा रहा है। उंगली पर अमिट स्याही का निशान दिखाते हुए उन्होंने विजय चिन्ह भी बनाया।

अक्षय यादव के खिलाफ चुनाव मैदान मे उतरे शिवपाल

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन कर फिरोजाबाद संसदीय सीट पर प्रो.रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव के खिलाफ चुनाव मैदान मे उतरे शिवपाल सिंह यादव देर शाम पौने 6 बजे के करीब अपना मत डालने के लिए आये। उनके साथ शिवपाल सिंह यादव, पत्नी सरला, बेटे आदित्य पत्नी राजलक्ष्मी और शिवपाल की बेटी डा.अनुभा भी रही। सभी के शाम के समय वोट डालने आने के पीछे फिरोजाबाद संसदीय चुनाव मे फंसा होना मुख्य कारण बताया गया है । पत्रकारो से वार्ता मे शिवपाल ने फिरोजाबाद मे अपनी एकतरफा जीत का दावा किया। बता दें कि मैनपुरी संसदीय सीट के विधानसभा जसवंतनगर क्षेत्र में मंगलवार सुबह निर्धारित समय पर मतदान प्रक्रिया शुरू हुई लेकिन कुछ जगहों पर ईवीएम में खराबी के चलते मतदान कुछ देर के लिए प्रभावित भी हुआ।

 

Yadav family not show together for leader mulayam in matdan

मुलायम के भाई अभय राम यादव अपने परिवारी जनों के साथ वोट डालने पहुंचे। उन्होंने कहा कि इस बार सपा की जीत निश्चित है। वहीं दूसरी ओर मुलायम के छोटे भाई राजपाल यादव ने कहा कि नेता जी लाखो वोट से जीतेंगे, फ़िरोज़ाबाद चुनाव नतीजों पर कहा जो भी जीतेगा अपना ही होगा, परिवार की एकता के सवाल पर कहा चुनाव बाद सभी एक हो जाएंगे। बहनोई डा.अजंट सिंह यादव पत्नी के साथ वोट डालने पहुंचे। बता दें की मैनपुरी संसदीय सीट से खुद मुलायम सिंह यादव मैदान में है ऐसे में सैफई में अभिनय विद्यालय में बनाए गए केंद्र पर परिवार वोट डालने पहुंचा। दोपहर 12 बजे सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उनकी पत्नी सांसद डिंपल यादव ने भी मतदान किया। जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र के कई बूथों पर ईवीएम खराब होने से मतदाताओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ा ।
.
सुबह मतदान 7 बजे शुरू होना था मतदान

वीआईपी कहे जाने वाला गांव सैफई में भी अभिनव विद्यालय में मॉडल बूथ तैयार था जिस पर मुलायम परिवार के सभी सदस्यों ने मतदान किया। बूथ संख्या 184 हैवरा में सुबह मतदान 7 बजे शुरू होना था । ईवीएम में खराबी के कारण 1 घंटे तक रही रुकावट। ग्राम पंचायत गीजा में बूथ संख्या 219 पर करीब आधा घंटा ईवीएम में खराबी के कारण मतदान में रुकावट रही बूथ संख्या 193 महोला में 3 बजे तक 55 प्रतिशत मतदान रहा। ग्राम पंचायत झींगुपुर बूथ संख्या 222 पर 85 प्रतिशत रहा शाम चार बजे तक ग्राम पंचायत बघुइया 93 तो उझियानी 234 पर 93 प्रतिशत मतदान रहा।

 

Yadav family not show together for leader mulayam in matdan

ईवीएम में खराबी के कारण करीब ढ़ाई घंटे तक मतदान बाधित

जिलानिर्वाचन अधिकारी जे.बी.सिंह और पुलिस कप्तान संतोष मिश्रा भी सुबह से ही मतदान के दौरान कहीं किसी उपद्रव न होने पाये इसे लेकर सजग रहे। कुल मिलाकर मतदान शांति पूर्ण रहा तो मोहनपुर राहिन में ईवीएम में खराबी के कारण करीब ढ़ाई घंटे तक मतदान बाधित रहा। गांव वालों की शिकायत के बाद मौके पर गये सेक्टर मजिस्ट्रेट ने ईवीएम को ठीक कराया गया उसके बाद वहां पर मतदान शुरू हो पाया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned