लंदन ट्यूब ट्रेन अटैक मामले में 18 साल का संदिग्ध गिरफ्तार

prashant jha

Publish: Sep, 17 2017 05:03:27 (IST)

Europe
लंदन ट्यूब ट्रेन अटैक मामले में 18 साल का संदिग्ध गिरफ्तार

टेररिज्म ऐक्ट के तहत पूछताछ की जा रही है। हालांकि, इस पर न तो चार्ज लगाया गया है और न ही उसकी पहचान हुई है।

लंदन/नई दिल्ली: लंदन में ट्यूब ट्रेन विस्फोट मामले में ब्रिटिश पुलिस ने एक 18 साल के लड़के को गिरफ्तार कर किया है। पुलिस ने बताया कि इस लड़के को केंट पुलिस ने डोवर के बंदरगाह इलाके से गिरफ्तार किया है। इससे टेररिज्म ऐक्ट के तहत पूछताछ की जा रही है। हालांकि, इस पर न तो चार्ज लगाया गया है और न ही उसकी पहचान हुई है।

जांच में और बढ़ेगी तेजी

डेप्युटी असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर नील बासु ने इस गिरफ्तारी को अहम बताते हुए जांच में  और तेजी आने की बात कही । उन्होंने कहा कि केवल लंदन में ही नहीं बल्कि पूरी मुल्क में आतंकी हमले के खतरे का स्तर 'गंभीर' बना हुआ है। पुलिस ने साथ ही आम लोगों को सतर्क रहने को कहा है। खतरे के स्तर के गंभीर रहने का मतलब सरकारी टास्क फोर्स का मानना है कि और हमले की आशंका बनी हुई है। प्रधानमंत्री टरीजा मे ने कहा कि खतरे के स्तर को उच्च बिंदु तक रखना 'उपयुक्त और समझदारी' भरा कदम है।

बाल्टी में रखकर बम ब्लास्ट

गौरतलब है कि लंदन की ट्यूब ट्रेन में शुक्रवार को हुए ब्लास्ट की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। दक्षिणी-पश्चिम लंदन के एक अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन पर बाल्टी में बम रखकर इस धमाके को अंजाम दिया गया गया था। इस हमले में 29 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे और कई लोगों के चेहरे तक झुलस गए थे।

आतंकी हमले का खतरा बढ़ा

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा में ने कहा कि उनकी सरकार ने आतंकवादी खतरे का स्तर गंभीर से बढ़ाकर अत्यधिक गंभीर करने का फैसला किया है। यह हमला कायरतापूर्ण था और इसका मकसद बड़ा नुकसान पहुंचाना था।

हमले में आईईडी का इस्तेमाल
आईएस की समाचार एजेंसी अमाक ने शुक्रवार रात कहा कि आईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। लंदन पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि विस्फोट के लिए इस्तेमाल में लाया गया इंप्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) को घर में ही तैयार किया गया था। 

पर्ससंस ग्रीन इलाके में ब्लास्ट
गौरतलब है कि शुक्रवार को दक्षिण लंदन की अंडर ग्राउंड ट्रेन में धमाका हुआ। इस घटना में कई लोगों के चेहरे झुलस गए और 20 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। ब्लास्ट पर्ससंस ग्रीन इलाके में हुआ है। यह इलाका काफी भीड़भाड़ वाला माना जाता है। जानकारी मिलने के बाद आपातकालीन सेवाएं देनी वाली सभी एजेंसियां मौके पर पहुंच गई। घायलों को अस्पताल ले जाया गया।

लंदन की अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका, 20 लोग जख्मी

जो तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही हैं। उसमें एक बाल्टी जैसी चीज में आग जलती दिखाई दे रही है। तस्वीरों में पास में एक बैग भी दिखाई दे रहा है। बताया जा रहा है कि बाहर के कोई विस्फोटक जैसी चीज फेंकी गई जिससे धमाका हो गया।

ब्रिटेन में कब-कब हुए बड़े आतंकी हमले -
23 मई 2017
ब्रिटेन के मैनचेस्टर अरीना में अमेरिकी पॉप सिंगर आरियाना ग्रांडे के कार्यक्रम के दौरान हुए ब्लास्ट में 22 लोगों की मौत हो गई और 59 से ज्यादा लोग घायल हो गए। पुलिस ने इसे आतंकी हमला बताया।

22 मार्च 2017
वेस्टमिंस्टर पर हुए इस हमले में एक पुलिस अधिकारी समेत 5 लोग मारे गए और 20 घायल हुए। हमलावर खालिद मसूद ने भीड़ पर गाड़ी चढ़ा दी थी।


दिसंबर 2015
लिटनस्टोन ट्यूब स्टेशन पर एक हमलावर ने 3 लोगों को चाकू मार दिया। हमलावर ने वारदात को अंजाम देने से पहले कहा कि वह सीरिया का बदला ले रहा है।


7 जुलाई 2005
लंदन में हुए सीरियल ब्लास्ट में52 लोग मारे गए और 770 से ज्यादा घायल हुए। हमलावरों ने लंदन मेट्रो की 3 भूमिगत ट्रेनों में धमाका किया।


फरवरी 1991
आईआरए के हमले की इस कोशिश में तत्कालीन प्रधानमंत्री जॉन मेजर और प्रमुख कैबिनेट मंत्री बाल-बाल बचे। इसमें डाउनिंग स्ट्रीट पर मोर्टार से हमला किया गया था। 3 में से एक मोर्टार बम इमारत के पीछे स्थित बगीचे में गिरा और अपने निशाने से केवल 15 मिनट की दूरी पर फट गया।


अक्टूबर-नवंबर 1974
ब्रिटिश पब्स में हुए धमाकों में 28 लोग मारे गए थे और 200 से भी ज्यादा लोग घायल हुए। इन हमलों को आयरिश रिपब्लिकन आर्मी ने अंजाम दिया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned