रूस की चौथी सबसे अमीर महिला नतालिया फिलेवा की प्लेन हादसे में मौत

रूस की चौथी सबसे अमीर महिला नतालिया फिलेवा की प्लेन हादसे में मौत

Anil Kumar | Publish: Apr, 03 2019 06:29:22 AM (IST) | Updated: Apr, 03 2019 06:29:23 AM (IST) यूरोप

  • दक्षिण-पश्चिम जर्मनी स्थित एजेलबाश शहर के पास नतालिया फिलेवा का विमान हादसे का शिकार हुआ।
  • अपने पिता का इलाज कराने के लिए फ्रांस से जर्मनी जा रहीं थीं फिलेवा।
  • नतालिया फिलेवा एस7 एयरलाइंस की को-ऑनर थीं।

मास्को। रूस की चौथी सबसे अमीर महिला नतालिया फिलेवा का एक विमान हादसे में मंगलवार को मौत हो गई। दरअसल जिस विमान में फिलेवा सफर कर रहीं थी वह 6 सीटों वाला था। विमान में पायलट के अलावा नतालिया फिलेवा के पिता भी सवार थे। जब यह विमान दक्षिण-पश्चिम जर्मनी स्थित एजेलबाश शहर के पास पहुंचा तो वहां अचानक दुर्घटना का शिकार हो गया। इस हादसे में तीनों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि फिलेवा अपने पिता का इलाज कराने के लिए फ्रांस से जर्मनी जा रहीं थी। 55 वर्षीय नतालिया फिलेवा को रूसी एविएशन इंडस्ट्री में यात्रियों के लिए सुविधाएं और सुरक्षा बढ़ाने पर जोर देने के कारण 'आयरन लेडी’ के नाम से जाना जाता था।

फ्रांस: 'येलो वेस्ट' विरोध पर सरकार सख्त, पेरिस कोर्ट ने प्रदर्शन के दोषी पर लगाया जुर्माना

एस7 एयरलाइंस की को-ऑनर थीं फिलेवा

हादसे के बाद सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे जर्मन अधिकारियों ने शुरूआती जांच के बाताया कि पायलट ने टर्न लेने के दौरान विमान से नियंत्रण खो दिया, जिसके कारण यह हादसा हुआ। फिलहाल आगे की जांच की जा रही है। यह भी बताया जा रहा है कि घटनास्थल पर जा पहुंचने के दौरान पुलिस की एक गाड़ी भी दुर्घटना की शिकार हो गई जिसमें दो लोगों की जान चली गई। बता दें कि नतालिया और उनके पति व्लादिस्लाव फिलेवा साइबेरिया एयरलाइंस (एस7 एयरलाइंस) के सह मालिक थे। नतालिया का नेट वर्थ 60 करोड़ डॉलर (करीब 4154 करोड़ रुपए) थी। नतालिया के परिवार में पति व्लादिस्लाव के अलावा चार बच्चे हैं। इसमें एक गोद ली हुई लड़की भी है।

अमरीका: रूस के साथ मिलकर साजिश रचने के आरोपों से ट्रंप बरी, जांच रिपोर्ट का संक्षिप्त अंश सार्वजनिक

कंपनी के कर्मचारी फलेवा को मम्मा कहकर पुकारते थे

ऐसा बताया जा रहा है कि नतालिया और उनके पति व्लादिस्लाव को कंपनी के कर्मचारियों के बीच इतने लोकप्रिय थे कि कर्मचारी दोनों को मम्मा और पापा बुलाते थे। विशेषज्ञों का मानना है कि एयरलाइंस की सफलता के पीछे नतालिया की मेहनत और दूरदर्शिता को सबसे बड़ी वजह हैं। गौरतलब है कि नतालिया ने सोवियत संघ के विघटन के बाद साइबेरिया एयरलाइंस का अधिग्रहण किया था। एस7 एयरलाइंस करीब एक दशक तक वन वर्ल्ड अलायंस का हिस्सा रही थी। इस अलायंस में अमेरिका, ब्रिटेन और जापान की कंपनी भी थी।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned