वेश्याएं थीं इस सीरियल किलर का निशाना, मारने के बाद निकाल लेता था गर्भाशय, किडनी और दिल

वेश्याएं थीं इस सीरियल किलर का निशाना, मारने के बाद निकाल लेता था गर्भाशय, किडनी और दिल

Shweta Singh | Publish: Dec, 04 2018 06:55:21 PM (IST) यूरोप

इस मामले में पुलिस के सामने कई संदिग्ध थेे, लेकिन उनमें से असली कातिल पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहा था।

लंदन। इंग्लैंड के व्हाइटचैपल से एक ऐसे खूंखार सीरियल किलर की कहानी सामने आई है, जिसके किस्से जान आप सिहर उठेंगे। इस किलर ने अपने गुनाह खुद कबूल किया है। साल 1888 में लंदन के उस इलाके में इसका बेहद खौफ था। बता दें कि इस इलाके में वेश्यओं की तादाद अधिक थी, जो जैक नाम के इस किलर का मुख्य टार्गेट थीं।

शव से दिल, किडनी और गर्भाशय निकालता था

जैक इन वेश्याओं की बेहद निर्ममता से हत्या करता था। इससे भी बदतर बात है कि वो उनके शव के साथ दरिंदगी करता था। इस बारे में मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि जैक इन वेश्याओं को मारने के बाद शव से दिल, किडनी और गर्भाशय निकाल लिया करता था। उस समय हो रहीं ऐसी भयानक हत्याओं ने पूरी दुनिया का ध्यान खींचा था। इलाके में लगातार हो रहीं ऐसी वारदातों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस आरोपी तक पहुंचना चाहती थी। इस मामले में पुलिस के सामने कई संदिग्ध थेे, लेकिन उनमें से असली कातिल पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहा था।

तीन साल में करीब 11 लड़कियों की ली थी जान

कुछ महिलाओं के शव के पास चिट्ठियां बरामद हुईं, जिनसे खुलासा हुआ कि असली आरोपी का नाम 'Jack The Ripper' है। उसने तीन सालों में करीब 11 लड़कियों की जान ले ली थी। दावा किया जाता था कि जैक को सर्जरी के बारे में अच्छी जानकारी थी। हालांकि इन सुरागों के बावजुद ये आरोपी आजतक पुलिस के हाथ नहीं आ पाया। आज भी किसी को न ये पता है कि वो कहां पैदा हुआ और ना ही उसके माता-पिता के बारे में किसी को कोई जानकारी है।

2000 से ज्यादा लोगों से पूछताछ

उस वक्त पुलिस ने लंबी-चौड़ी टीम गठित कर हत्यारे को दबोचने की फिराक में थे। इसके तहत करीब 2000 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हुई, 300 लोगों की जांच और लगभग 80 लोगों को हिरासत में भी लिया गया था। जिन पर शक गहराया उनके डीएनए की भी जांच की गई। लेकिन हर बार काफी करीब पहुंचने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली ही रहे। हालांकि पुलिस की ऐसी कार्रवाईयों के बाद ये असर जरूर हुआ कि इस सीरियल ऐसी वारदातें अंजाम देना रोक दिया।

Ad Block is Banned