ब्रिटेन: ट्रांसजेंडर ने नकली अंग लगाकर बनाया संबंध, 3 साल की सजा

ब्रिटेन: ट्रांसजेंडर ने नकली अंग लगाकर बनाया संबंध, 3 साल की सजा

Siddharth Priyadarshi | Publish: Sep, 05 2018 02:40:18 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 05:29:15 PM (IST) यूरोप

दो महिलाओं का इस ट्रांसजेंडर व्यक्ति पर आरोप था कि उसने इस अप्राकृतिक तरीके से संबंध बनाने से पहले न तो उन्हें सूचना दी गई और न ही सहमति ली।

लंदन। ब्रिटेन में एक ट्रांसजेंडर व्यक्ति को नकली अंग लगाकर धोखे से शारीरिक संबंध बनाने के अपराध में 3 साल की सजा दी गई है। ब्रिटिश मीडिया की खबरों के मुताबिक 35 साल के कार्लोस डेलाक्रूज के खिलाफ 2 महिलाओं ने शिकायत दर्ज कराई थी। महिलाओं का आरोप था कि कार्लोस एक ट्रांसजेंडर है फिर भी उसने अपने शरीर नकली अंग लगाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाए। महिलाओं ने मांग की थी कि इसे अप्राकृतिक तरीके से संबंध बनाने का मामला मानते हुए कार्लोस को कड़ी सजा दी जाए।

अप्राकृतिक संबंध का मामला

दो महिलाओं का इस ट्रांसजेंडर व्यक्ति पर आरोप था कि उसने इस अप्राकृतिक तरीके से संबंध बनाने से पहले न तो उन्हें सूचना दी गई और न ही सहमति ली।महिलाओं ने कहा कि कार्लोस एक ट्रांसजेंडर है फिर भी उसने अपने शरीर नकली अंग लगाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाए। बताया जा रहा है कि दोनों महिलाओं के साथ कार्लोस के अलग-अलग संबंध थे। महिलाओं ने कार्लोस पर संबंध बनाने कि प्रक्रिया के दौरान हिंसक होने और उन्हें तकलीफ देने का आरोप लगाया। महिलाओं ने कहा कि संबंध बनाने के दौरान उन्हें बहुत अधिक तकलीफ होती थी। इस बात से ही उन्हें शक हुआ कि कार्लोस कुछ अप्राकृतिक माध्यमों का इस्तेमाल कर रहा है।

अँधेरे में रहता था आरोपी

महिलाओं ने आरोप लगाया था कि कार्लोस लाइट जलाने नहीं देता था। वह हमेशा बंद कमरे में अंधेरे में ही संबंध बनाया करता था। महिलाओं ने यह भी बताया कि उसकी असलियत जाहिर न हो जाए इसके लिए कार्लोस ने कभी पूरी तरह से उजाले में निर्वस्त्र नहीं हुआ था। महिलाओं ने यह भी कहा कि जब वो आरोपी से मिलने जब भी उसके निवास पर गईं, वह अँधेरे में ही मिलता था।

कोर्ट ने दी तीन साल की सजा

कोर्ट ने इस मामले में महिलाओं के आरोपों की जांच में आरोपी को दोषी करार दिया और इसे तीन साल जेल कि सजा सुनाई। हालांकि कोर्ट ने पीड़ित महिलाओं की पहचान जाहिर नहीं की लेकिन यह कहा कि दोनों के साथ कार्लोस के अलग-अलग संबंध थे। कोर्ट ने कार्लोस कि जांच के लिए एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया था। मेडिकल बोर्ड कि जांच में यह साबित हो गया कि कार्लोस ट्रांसजेंडर है और वह कृत्रिम अंग लगाकर महिलाओं से संबंध बनाता था।

Ad Block is Banned