United Kingdom के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन Coronavirus की वजह से छोटा किया अपना भारत दौरा

भारत में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के देखते हुए United Kingdom के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन ने अपने भारत दौरे को छोटा कर दिया हैै। बॉरिस जॉनसन को गणतंत्र दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट के तौर पर भी भारत में उपस्थित रहना था, लेकिन कोविड के कारण तब वो भारत नहीं आ सके थे।

By: Saurabh Sharma

Published: 15 Apr 2021, 09:47 AM IST

लंदन। United Kingdom के प्राइम मिनिस्टर बोरिस जॉनसन ने अपने भारत दौरे को छोटा कर दिया है। जॉनसन का फैसला कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया है। बोरिस को भारत में अप्रैल के आखिरी हफ्ते में विजिट करना है। अपने इस दौरे में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। इससे पहले बोरिस जॉनसन को गणतंत्र दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट के तौर पर भारत आना था, लेकिन कोविड के बढ़ते प्रभाव की वजह से उन्हें अपना दौरा स्थगित करना पड़ा था।

अप्रैल के आखिरी हफ्ते भारत आएंगे जॉनसन
ब्रिटेन के ईयू से बाहर होने के बाद बॉरिस जॉनसन किसी इंटरनेशनल दौरे तक तहत पहली बार भारत आएंगे। उनका यह दौरा अप्रैल के आखिरी हफ्ते से शुरू होने की संभावना है। जॉनसन का भारत दौरा ऐसे समय पर है जब जॉनसन ने विदेश नीति, रक्षा, सुरक्षा और विकास संबंधी ब्रिटेन सरकार की समेकित समीक्षा का निष्कर्ष जारी किया। ब्रिटेन की विदेश नीति में आए बदलाव में 'विश्व के भू-राजनीतिक केंद्रÓ के रूप में हिंद-प्रशांत क्षेत्र की ओर साफ झुकाव देखने को मिल रहा है। इसी के तहत ब्रिटेन ने आसियान आर्थिक संघ के साझेदार दर्जे के लिए आवेदन किया है।

कई अवसरों को खोलेगा जॉनसन का दौरा
15 मार्च को विदेशी मीडिया की ओर से कहा गया था कि यूनाइटेड किंगडम दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन आसियान देशों के साझेदार दर्जे के लिए आवेदन करने जा रहा है। अप्रैल के अंत में प्रधानमंत्री यूरोपीय संघ से अलग होने के बाद अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय यात्रा के तहत भारत जाएंगे। भारत दौरा क्षेत्र में अवसरों को खोलेगा और इस दौरान भविष्य में एक मुक्त व्यापार समझौते के प्रणेता के रूप में बहुप्रतीक्षित भारत-ब्रिटेन उन्नत व्यापार साझेदारी (ईटीपी) को अंतिम रूप दिए जाने की उम्मीद है।

भारत में लगातार बढ़ रहे हैं मामले
भारत में कोरोना वायरस के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 1,84,372 नए मामले सामने आ चुके हैं। बुधवार के आंकड़ों के मुताबिक संक्रमण के कुल मामले 1,38,73,825 हो गए हैं, जबकि 13 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं। भारत में संक्रमित लोगों की संख्या 13,65,704 हो गई है जो कुल मामलों का 9.84 फीसदी है, जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर घटकर 88.92 फीसदी हो गई है।

coronavirus
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned