IAS, IPS के इंटरव्यू में पूछे जाते हैं ये सवाल, नहीं बताया तो होंगे रिजेक्ट

IAS, IPS के इंटरव्यू में पूछे जाते हैं ये सवाल, नहीं बताया तो होंगे रिजेक्ट

Sunil Sharma | Publish: Apr, 08 2019 06:31:17 PM (IST) परीक्षा

IAS, IPS के इंटरव्यू में कुछ बेहद ही खास सवाल पूछे जाते हैं

आम तौर पर कुछ प्रश्न ऐसे होते हैं जो लगभग सभी कॉम्पीटिशन एग्जाम्स में पूछे जाते हैं। परन्तु सिविल सर्विसेज जैसे IAS, IPS के इंटरव्यू में कुछ बेहद ही खास सवाल पूछे जाते हैं, जिनके उत्तर नहीं बताए जाए तो आप तुरंत ही रिजेक्ट भी हो सकते हैं।

ये भी पढ़ेः RPSC का कारनामाः -23 अंक लाने वाला बना टीचर, हाईकोर्ट में की अपील

प्रश्न (1) - भारत ने अपना पहला एक दिवसीय क्रिकेट मैच कब खेला?
भारत ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय एकदिनी मैच 23 जुलाई 1974 को इंग्लैंड के विरुद्ध हैडिंग्ले में खेला। यह प्रूडेंशियल ट्रॉफी का पहला मैच था। इसमें इंग्लैंड ने भारत को चार विकेट से हराया दिया था।

ये भी पढ़ेः भारत सरकार मोबाइल एप के जरिए देगी 5 लाख युवाओं को नौकरी

प्रश्न (2) - ओलिंपिक में क्रिकेट क्यों नहीं?
वर्ष 1896 में एथेंस में हुए पहले ओलिम्पिक खेलों में क्रिकेट को भी शामिल किया गया था, पर पर्याप्त संख्या में टीमें न आ पाने के कारण क्रिकेट प्रतियोगिता रद्द हो गई। वर्ष 1900 में पेरिस में हुए दूसरे ओलिम्पिक में चार टीमें उतरीं, पर बेल्जियम और नीदरलैंड्स ने अपना नाम वापस ले लिया, जिसके बाद सिर्फ फ्रांस और इंग्लैंड की टीमें बचीं। उनके बीच मुकाबला हुआ, जिसमें इंग्लैंड की टीम चैम्पियन हुई। अब उम्मीद की जा रही है कि 2024 के ओलिम्पिक खेलों में टी-20 क्रिकेट को शामिल किया जाए।

प्रश्न (3) - फैट जीन क्या है?
ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने ‘एफटीओ’ नामक विशेष कोशिका खोज निकाली, जिसकी वजह से मोटापा, हृदयघात और मधुमेह जैसी बीमारियां देखने को मिलती हैं। जिनके शरीर में यह खास किस्म का जीन पाया जाता है, उन्हें अगर एक प्रकार का आहार दिया जाए, तो वह उन लोगों के मुकाबले अपना वजन बढ़ा हुआ महसूस करते है, जिनके शरीर में यह जीन नहीं होता है। वैज्ञानिकों का यह भी दावा है कि इस जीन को खोज लिया गया है, जो कोशिकाओं में चर्बी जमा होने के लिए जिम्मेदार हैं। इन्हें फिट-1 व फिट-2 (फैट इंड्यूसिंग ट्रांसक्रिप्ट 1-2) जीन कहा जाता है।

प्रश्न (4) - प्रशंसक के अर्थ में ‘फैन’ शब्द कैसे बना?
तीन साल पहले आई फिल्म ‘फैन’ के नायक थे शाहरुख खान। व्यक्तिगत बातचीत में कहीं शाहरुख ने कहा, फैन शब्द मुझे पसंद नहीं। उनका कहना था, फैन शब्द फैनेटिक (उन्मादी) से निकला है। यह कई बार नकारात्मक भी होता है। आपने अक्सर लोगों को यह कहते सुना होगा कि मैं अमिताभ का फैन हूं या सचिन तेंदुलकर, रेखा या विराट कोहली का फैन हूं। कुछ लोग मजाक में कहते हैं कि मैं आपका पंखा हूं क्योंकि फैन का सर्वाधिक प्रचलित अर्थ पंखा ही है। ‘फैन’ का अर्थ उत्साही समर्थक या बहुत बड़ा प्रशंसक भी होता है, पर इसका यह अर्थ हमेशा से नहीं था।

देखा जाए तो इस शब्द का जन्म अमरीका में बेसबॉल के मैदान में हुआ। इसका पहली बार इस्तेमाल किया टेड सुलीवॉन ने, जो सेंट लुइस ब्राउन्ज बेसबॉल टीम के मैनेजर थे। वर्ष 1887 में फिलाडेल्फीया की एक खेल पत्रिका ‘स्पोर्टिंग लाइफ’ में इस शब्द के बारे में जानकारी दी गई। इसमें बताया गया कि फैन शब्द ‘फैनेटिक’ का संक्षिप्त रूप होता है। पहले यह शब्द अमरीकी खेल प्रेमियों के लिए ही प्रयोग होता रहा, लेकिन बाद में यह दूसरे खेलों और फिर जीवन के सभी क्षेत्रों में छा गया। इस शब्द से फैनडम शब्द भी बना। इसके बाद फैन मेल, फैन लेटर और अब फैन क्लब तक बन गए।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned