बोर्ड की परीक्षा में बड़ी गड़बड़, पढ़ाई से भी ज्यादा कठिन होगा एग्जाम!

बोर्ड की परीक्षा में बड़ी गड़बड़, पढ़ाई से भी ज्यादा कठिन होगा एग्जाम!

Sunil Sharma | Publish: Mar, 23 2019 06:43:49 PM (IST) परीक्षा

पूरे राज्य में कुल पंजीकृत विद्यालयों की संख्या 101303 हैं, जिनमें से 19524 में परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। इन परीक्षा केन्द्रों में 14,38,521 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा 4 अप्रैल से आरंभ होगी।

कक्षा पाचवीं की गणित पुस्तक के पाठ्यक्रम में 5 अंकों यानि दस हजार तक की संख्याओं का ज्ञान विद्यार्थियों को करवाया गया है। इसके चलते बच्चे दस हजार तक की जोड़, बाकी, गुणा, भाग आदि की जानकारी रखते है, लेकिन अब उन्हें दस करोड़ की संख्या को रटना होगा, क्योंकि पांचवीं बोर्ड परीक्षा में रोल नम्बर करोड़ों में आए है। ऐसे में एक तरह जहां बच्चों को रोल नम्बर सही लिखने की चिंता है तो शिक्षकों को हर एक परीक्षार्थी के पास जाकर रोल नम्बर लिखवाने की फिक्र है।

अंग्रेजी सबसे मुश्किल
अन्य विषयों में तो ठीक है, लेकिन अंग्रेजी में रोल नम्बर लिखना विद्यार्थियों के लिए बड़ी मुश्किल कर रहा है।

पहले भी किया था विरोध
शिक्षा विभाग ने 2017 में सभी जिलों में डाइट के मार्फत कक्षा पांचवीं की समान परीक्षा (जिला स्तरीय प्राथमिक शिक्षा अधिगम स्तर मूल्यांकन) का आयोजन किया गया था, उस वक्त सात अंकों के रोल नम्बर जारी किए थे, विरोध भी हुआ था। अब नौ अंकों के रोल नम्बर जारी किए गए हैं। इस बार पांचवीं की परीक्षा चार अप्रेल से शुरू होगी, जिसमें 9 अंकों में नामांकन जारी किए गए हैं।

ये हैं आंकड़े
पूरे राज्य में कुल पंजीकृत विद्यालयों की संख्या 101303 हैं, जिनमें से 19524 में परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। इन परीक्षा केन्द्रों में 14,38,521 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा 4 अप्रैल से आरंभ होगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned