CA का एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, निगेटिव मार्किंग होगी बंद

इस वर्ष से सीए सिलेबस में कई बदलाव हो रहे हैं जो कैंडीडेट्स को अच्छे मार्क्स लाने में मददगार साबित होंगे। द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया एग्जाम पैटर्न में भी बदलाव करेगा।

By: सुनील शर्मा

Published: 19 Jan 2019, 02:58 PM IST

चार्टर्ड एकाउंटेंट का एग्जाम देने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी है। इस वर्ष से सीए सिलेबस में कई बदलाव हो रहे हैं जो कैंडीडेट्स को अच्छे मार्क्स लाने में मददगार साबित होंगे। द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया एग्जाम पैटर्न में भी बदलाव करेगा, अब से परीक्षा में 30 फीसदी ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे।

ये हैं नए बदलाव
सीए एग्जाम पैटर्न के अनुसार वर्तमान में ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या काफी कम होती है और अधिकतर प्रश्न सब्जेक्टिव टाइप होते हैं। ऐसे में छात्रों का सही से आंकलन नहीं हो पा रहा था। नया पैटर्न लागू होने से छात्रों की बौद्धिक क्षमता में वृद्धि होगी और उनकी कुशलता का सही से आंकलन भी हो सकेगा।

ऐसा होगा पेपर
मई 2019 में होने वाली परीक्षा में इंटर के पेपर नंबर 2,4,6,7 एवं फाइनल के पेपर नंबर 3,4,7,8 में अब 30 प्रतिशत ऑब्जेक्टिव और 70 प्रतिशत सब्जेक्टिव प्रश्न शामिल किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस बदलाव से न केवल देश को बेहतर सीए मिलेंगे होंगे बल्कि आने वाले समय में इसके बेहतर असर भी देखने को मिलेंगे। परीक्षा में अब 30 प्रतिशत ऑब्जेक्टिव प्रश्न तो होंगे ही साथ ही निगेटिव मार्किंग भी बंद हो जाएगी।

सीए पीयूश जैन ने बताया था कि पिछले दिनों इस संबंध में बॉडी के पास कई शिकायतें पहुंची थी, जिसके बाद यह निर्णय लिया गया है। आईपीसीसी लेवल में 30 प्रतिशत प्रश्न चार विषयों कॉर्पोरेट एंडर अदर लॉ, टैक्सेसन, ऑडिटिंग एंड इंश्योरेंस, इंटरप्राइजेस इन्फॉर्मेशन सिस्टम एंड स्ट्रैटजिक मैनेजमेंट से होंगे। जबकि फाइनल लेवल में चार विषयों एडवांस ऑडिटिंग एंड प्रोफेशनल एथिक्स, कॉर्पोरेट एंड इकोनॉनिक लॉ, डायरेक्ट टैक्स लॉ एंड इंटरनेशनल टैक्सेशन तथा इनडायरेक्ट टैक्स लॉ से ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे।

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned