फैजाबाद में मिले आर्मी कैप्टन, 6 दिन पहले महानंदा एक्सप्रेस से हुए थे लापता

   फैजाबाद में मिले आर्मी कैप्टन, 6 दिन पहले महानंदा एक्सप्रेस से हुए थे लापता

घरवालों ने उनके किडनैप होने की आशंका जताई थी और मदद के लिए पीएमओ और रक्षा मंत्रालय से मदद की गुहार लगायी थी।

फैजाबाद. दिल्ली जाने के दौरान महानंदा एक्सप्रेस से छह दिन पहले लापता हुए कैप्टन शिखर दीप फैजाबाद जिले में मिल गए हैं। उन्हें फैजाबाद कोतवाली लाया गया। सेना के अधिकारियों ने वहां उनसे पूछताछ की। कैप्टन ने बताया कि उन्हें अगवा कर लिया गया था। किसी तरह वे अपहरणकर्ताओं के चुंगल से छुटकर भागे हैं। सेना के अधिकारी उन्हें लेकर डोगरा रेजीमेंट चले गए। 

बताते चलें कि बीते छह फरवरी को कटिहार से जम्मू महानंदा एक्सप्रेस से रवाना हुए थे और दिल्ली जाने से पहले रहस्यमय स्थिति में लापता हो गए थे। इसके बाद घरवालों ने उनके किडनैप होने की आशंका जताई थी और मदद के लिए पीएमओ और रक्षा मंत्रालय से मदद की गुहार लगायी थी।

नशीला पदार्थ सूंघाकर किया गया था किडनैप
सीओ सिटी फैजाबाद जवाहर प्रसाद सिंह का कहना है कि कैप्टन शिखरदीप ने पूछताछ में बताया कि वे पटना में पानी भरने के लिए महानंदा एक्सप्रेस से उतरे थे। इस दौरान किसी ने पीछे से उन्हें नशीला पदार्थ सुंघा दिया, जिससे वे बेहोश हो गए। इसके बाद उन्होंने खुद को एक बंद कमरे में पाया। वहां लगातार उन्हें टॉर्चर किया जा रहा था। वे कितने दिनों तक बेहोश थे, इसकी उन्हें जानकारी नहीं है। एक दिन मौका पाकर वे कमरे भाग निकले और कामाख्या एक्सप्रेस में सवार हो गए।


फैजाबाद जंक्शन से पुलिस को किया फोन
आज सुबह तीन बजकर 35 मिनट पर वे फैजाबाद पहुंचे। यहां से उन्होंने पुलिस को फोन किया और जानकारी दी। इसके बाद तुरंत पुलिस उन्हें लेने पहुंची। उनके पैर में चप्पल नहीं थे। पुलिस उन्हें लेकर फैजाबाद कोतवाली आई है। वहां सेना के वरिष्ठ अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे हैं कि आखिर वे इस हालात में कैसे पहुंचे। साथ ही उनके घरवालों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned