CBSC बोर्ड का बैनर लगाकर चल रहा था स्कूल अभिभावकों को भी नही पता थी हकीकत

सैकड़ों बच्चों का भविष्य अन्धकार में बिना मान्यता के चल रहा था रेयान एकेडमी जिला प्रशाशन ने की सीज की कार्यवाही

By: अनूप कुमार

Published: 16 May 2018, 05:58 PM IST

फैजाबाद : बीते दिनों कुशीनगर जिले में एक स्कूल वाहन के ट्रेन से टकरा जाने और उस हादसे में मासूम बच्चों की मौत की घटना के बाद हरकत में आई प्रदेश सरकार के निर्देश पर पूरे सूबे में अलग अलग जनपदों में मानक के विपरीत चल रहे स्कूलों के खिलाफ चल रहे अभियान के तहत फैजाबाद में भी जिला प्रशाशन ने बड़ी कार्यवाही की है . बुधवार को फैजाबाद जिला प्रशासन के अधिकारियों ने गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों पर नकेल कसते हुए शहर रामनगर इलाके में स्थित रेयान एकेडमी को सीज कर दिया . यह स्कूल पिछले 2 वर्षों से बगैर निर्धारित मान्यता के संचालित हो रहा था. दिलचस्प बात तो ये है कि 2 साल से चल रहे इस स्कूल को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने कभी यह जानने की कोशिश नहीं की कि स्कूल मान्यता प्राप्त है या नहीं.

सैकड़ों बच्चों का भविष्य अन्धकार में बिना मान्यता के चल रहा था रेयान एकेडमी जिला प्रशाशन ने की सीज की कार्यवाही

कुशीनगर की घटना के बाद जिला प्रशासन ने गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को खंगालना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में आज रेयान अकादमी को सीज कर दिया गया . इस पूरी कार्यवाही में सिटी मजिस्ट्रेट सी एल मिश्रा ,सीओ सिटी अरविंद चौरसिया ,नगर शिक्षा अधिकारी संजय कुमार के नेतृत्व में जिला प्रशासन की टीम ने आज कोतवाली नगर के रामनगर घोसियाना इलाके में रेयान एकेडमी पर छापा मारा. छापे के दौरान बिना मानक के चल रहे स्कूल में कुछ भी ऐसा नहीं मिला जिस से ये कहा जा सके कि ये एक स्कूल है . बच्चों की शिक्षा का व्यवसायीकरण कर रहे इस स्कूल की इमारत खंडहर के रूप में तब्दील थी . जगह-जगह टूटे हुए फर्श गंदे शौचालय और जर्जर भवन में यह स्कूल चलता हुआ पाया गया . स्थलीय निरीक्षण के बाद जब अधिकारियों ने स्कूल से जुडी पत्रावलियों की जांच शुरू की तो पता चला कि इस स्कूल को किसी भी प्रकार की सरकारी मान्यता प्राप्त नहीं है और पिछले 2 वर्षों से यह स्कूल बिना मान्यता के ही बच्चों को शिक्षा दे रहा था. जिला प्रशासन ने इस स्कूल पर कार्रवाई करते हुए स्कूल में ताला लगा दिया है , दिलचस्प बात तो ये है कि यह स्कूल फर्जी तरीके से CBSE बोर्ड का बैनर लगाकर चलाया जा रहा था जिसमें सैकड़ों बच्चों का भविष्य अंधकार में हो रहा था यहां तक कि अभिभावकों को भी इस बात की भनक तक नहीं थी कि स्कूल बगैर मान्यता के चल रहा है.

Show More
अनूप कुमार Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned