2019 चुनाव में अहम् भूमिका में होगी हिन्दू युवा वाहिनी बनाई रणनीति

राम नगरी अयोध्या में हिन्दू युवा वाहिनी ने बनाई रणनीति 2019 के पहले बीजेपी से जुड़ेंगे सभी हिन्दू संगठन

By: Satya Prakash

Updated: 21 Jul 2018, 07:44 AM IST

सत्य प्रकाश
अयोध्या : धार्मिक नगरी अयोध्या में हिन्दू युवा वाहिनी के द्वारा संगठन को मजबूत करने तथा साथ ही 2019 में हिन्दुओ के सभी वर्गों को जोड़ने के उद्देश्य से फैजाबाद मंडलीय बैठक का आयोजन किया गया इस बैठक में प्रदेश के पदाधिकारी के साथ फैजाबाद मंडल के सभी जिलो के पदाधिकारी मौजूद रहे हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष राजदेव सिंह ने पत्रकार वार्ता में बताया कि यह संघटन आज फैजाबाद मंडलीय बैठक है इसमें सभी जिलो के कार्यकर्ताओ को संगठन को मजबूत बनाने के साथ हिन्दू समाज के सभी वर्गों को जोड़ने के उद्देश्य को लेकर प्रशिक्षण देने के लिए बैठक किया जा रहा है और आगे 25-26 अगस्त को अयोध्या में ही 24 घंटे की प्रशिक्षण का कार्यक्रम चलेगा. उसके बाद संघटन के सभी कार्यकर्ता गाँव गाँव तक पहुच कर लोगो को जोड़ने का कार्य करेंगे. तथा बताया कि यह लोकतान्त्रिक देश है यहाँ पर चुनाव का भी अपना महत्व है और हम सभी हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता है जिसके संरक्षक वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री है. और हिन्दू समाज को संगठित करना ही हमारा मुख्य उद्देश्य है और राष्ट्र के लिए समर्पित कर राष्ट्र को गौरवशाली बनाना ही मुख्य लक्ष्य है लेकिन देश में जिस तरह सभी पार्टिया सभी विचार धारा को छोड़कर एक हो रहे है जो कभी भी किसी से मिलना नहीं चाहते थे हमेशा एक दुसरे को बुरा भला कहते थे वह सभी आज किस तरह कुर्सी प्राप्त हो जाये इसके लिए लगे हुए है उन्हें यह भी नहीं सोचना है कि देश कहाँ जाएगा इससे मतलब नहीं है और सरे मतभेदों को भूल कर एक हो गए है ऐसे में हम लोग भी हिन्दू को संगठित करने का प्रयास कर रहे है. तथा बताया कि पूर्व में कैराना और नूरपुर का चुनाव तो हम हारे वही लेकिन सभी लोग जानते है कि आज यहाँ पर हिन्दू के संगठित होने के कारण 8 प्रतिशत वोट बढ़ा भी है. हम लोग इस उद्देश्य के साथ है आज यह बैठक हुआ है कि कम से कम 51 प्रतिशत हिन्दुओ के संगठित कर सके.

2019 में बीजेपी के हाथो को मजबूत करने का उद्देश्य

आजादी के बाद पहली बार ऐसा मुख्यमंत्री है जो कि एक वर्ष में कई बार अयोध्या का दौरा कर चुके है इससे यह पता चल रहा है कि अयोध्या के प्रति कितना समर्पित हैं. तथ साथ ही सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई बराबर नहीं कर रहा था उसके लिए योगी सरकार ने आग्रह कर कोर्ट के इस सुनवाई को लगातार शुरू कराया है और जल्द ही न्यायलय का निर्णय आने वाला है जो कि 2019 के पहले ही राम मंदिर निर्माण शुरू हो जायेगा. तथा संगठन में सदस्यता भर्ती प्रक्रिया बंद होने पर बताया कि विधान सभा के बाद योगी आदित्यनाथ के मुख्य मंत्री के बनते ही कई हिन्दू संगठन को छोड़ करके हिन्दू युवा वाहिनी में शामिल होने लगे थे जिसके कारण संरक्षक द्वारा एक वर्ष से सदस्यता कराने की पर रोक लग गई थी क्योकि राष्ट्रीय स्वयम सेवक संघ व विश्व हिन्दू परिषद् व अन्य कई हिन्दू संगठन के सदस्य आ रहे थे जब कि योगी आदित्यनाथ द्वारा बताया गया था कि कोई भगदड़ नहीं होने चाहिए संभी अपने अपने संगठन में रह कर अपने जिम्मेदारी से कार्य करे. अब एक वर्ष हो गए है इसलिए अब फिर से सदस्यता को बढ़ने के लिए कार्य करेंगे.

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned