बड़ी लापरवाही : बिना मुसाफिरों को लिए मुंबई रवाना हो गयी साकेत एक्सप्रेस

बड़ी लापरवाही : बिना मुसाफिरों को लिए मुंबई रवाना हो गयी साकेत एक्सप्रेस

Anoop Kumar | Publish: Sep, 10 2018 01:05:33 PM (IST) Faizabad, Uttar Pradesh, India

हंगामा देखते हुए स्टेशन अधीक्षक अपने कार्यालय में ताला लगाकर गायब हो गए

फैजाबाद : फैजाबाद रेलवे स्टेशन पर रेलवे विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। साप्ताहिक ट्रेन साकेत एक्सप्रेस आज बिना जनरल डिब्बे को लिए ही मुंबई के लिए रवाना हो गई। फैजाबाद से मंुबई जाने वाली साकेत एक्सप्रेस टे्रन पर यात्रा करने के लिए सुबह 10 बजे से ही टिकट बिक्री प्रारम्भ हो गयी। ट्रेन जब यार्ड में खड़ी थी, उसी समय जनरल कोच में यात्री बैठ गए। उस समय टे्रन को संचालन ईकाई की ओर से फिटनेस नही मिला था। स्टेशन अधीक्षक के अनुसार साकेत एक्सप्रेस टे्रन का जनरल कोच डैमेज था। उस कोच को प्लेटफार्म पर ही टे्रन से अलग कर दिया गया। कोच को टे्रन से काट कर अलग करता देख यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया। कुछ यात्री तो दूसरे कोच में बैठ गए किन्तु लगभग 100 यात्री टे्रन मे बैठने से वंचित रह गए। जनरल डिब्बे में सफर करने वाले यात्री जब ट्रेन पर नहीं बैठ सके तो सभी लोग प्लेटफॉर्म पर हंगामा किया और टिकट वापसी की बात कही लेकिन टिकट काउंटर पर यात्रियों की टिकट वापसी नहीं हुई। सैकड़ों ट्रेन यात्री प्लेटफॉर्म पर भारी हंगामा कर रहे थे। हंगामा देखते हुए स्टेशन अधीक्षक अपने कार्यालय में ताला लगाकर फरार हो गए। रेलवे स्टेशन पर जवाब देने के लिए कोई भी अधिकारी सामने नहीं आया। टिकट काउंटर पर टिकट बुकिंग क्लर्क ने कहा टिकट वापस नहीं होगा। टिकट वापसी की कोई निर्देश नहीं दिए गए हैं जब तक निर्देश नहीं आते तब तक टिकट वापस नहीं होंगे। रेलवे विभाग की गैरजिम्मेदाराना हरकत किसी को रास नहीं आ रही है कोई भी रेलवे अधिकारी जवाब देने के लिए तैयार नहीं है कि आखिर साकेत एक्सप्रेस में जनरल डिब्बे के कोच क्यों नहीं लगे अगर नहीं लगने थे तो फिर टिकट काउंटर से जनरल टिकट जारी क्यो हुए। हालांकि नाम न लिखने की शार्ट पर एक रेलकर्मी ने बताया की डिब्बे में तकनीकी खराबी के कारण उसे अन्य डिब्बों से अलग कर दिया गया लेकिन उसकी जगह पर दूसरा कोच लगाया जा सकता था जो की नहीं लगाया गया और सैकड़ों मुसाफिरों को छोड़ कर ही ट्रेन रवाना हो गयी जिसके कारण हंगामा हो गया |

Ad Block is Banned