शाबास : पीएम मोदी के बेटी बचाओ अभियान से प्रभावित ये युवा साईकिल से कर रहे हैं देश भ्रमण

शाबास : पीएम मोदी के बेटी बचाओ अभियान से प्रभावित ये युवा साईकिल से कर रहे हैं देश भ्रमण

Anoop Kumar | Publish: Jan, 13 2018 04:21:40 PM (IST) Faizabad, Uttar Pradesh, India

बेटी बेटे के बीच के फर्क को मिटाने के लिए उत्साही युवाओं की टीम निकली है देश भ्रमण पर

फैजाबाद .लिंग भेद मिटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्लोगन के साथ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ साइकिल यात्रा आज फैजाबाद पहुंची. सात सदस्यीय साइकिल यात्रा की टीम का फैजाबाद में जिलाधिकारी डॉ अनिल पाठक ने स्वागत किया वहीँ टीम के मेम्बर्स ने जिलाधिकारी से मिलकर अपनी यात्रा के उद्देश्य बारे में जानकारी दी, डॉ अनिल पाठक ने यात्रा के सभी सदस्यों को शाल व कंबल ओढा कर स्वागत किया और उनकी यात्रा की कामयाबी के लिए शुभकामनाएं दी.बताते चलें कि यह जागरूकता यात्रा महाराष्ट्र के नागपुर की एक संस्था द्वारा 4 जनवरी को निकाली गई थी जो महाराष्ट्र मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों से होते हुए यात्रा नेपाल के लुंबिनी पहुंचेगी जहां से 15 जनवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर में यात्रा का समापन होगा, यह यात्रा एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के लिए भी अपना दावा पेश करेगी. फैजाबाद में यात्रा का स्वागत होने के बाद जागरूक युवक और युवतियों की ये टीम बस्ती होते हुए नेपाल की ओर रवाना होगी .

बेटी बेटे के बीच के फर्क को मिटाने के लिए उत्साही युवाओं की टीम निकली है देश भ्रमण पर

टीम की एक महिला सदस्य सुनयन मिश्र ने बताया कि इस साईकिल यात्रा के जरिये हम सिर्फ भारत ही नही बल्कि पूरी दुनिया में ये सन्देश देना चाहते हैं कि बेटा और बेटी में फर्क नहीं होता है अगर मौका मिले तो बेटियाँ भी बेटों की तरह घर का नाम रौशन कर सकती हैं इसी भावना को आम जनमानस तक पहुंचाने के लिए हम सभी ने साइकिल यात्रा शुरू की है . वहीँ जिलाधिकारी फैजाबाद डॉ अनिल कुमार पाठक ने साइकिल यात्रा में शामिल सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए उन्हें बधाई देते हुए कहा कि किसी भी देश का और समाज का सर्वांगीण विकास तभी संभव है जब प्रकृति के नियमों के अनुसार महिला और पुरुष को विकास के सामान अवसर दिए जाएँ तभी देश का कल्याण संभव है . श्री पाठक ने कहा कि हमार देश आज बहुत तरक्की कर चुकी है आर्थिक रूप से वैज्ञानिक दृष्टिकोण से हम दुनिया के अन्य देशों के साथ चल रहे हैं लेकिन बेटी बेटे के भेद की समस्या से आज भी हमारा समाज ग्रसित है और जब तक ये भावना समाप्त नहीं होती तब तक देश का विकास संभव नहीं है ,श्री पाठक ने इस साईकिल यात्रा में शामिल सभी सदस्यों को शुभकामनाएं देते हुए उन्हें विदा किया .

Ad Block is Banned