विदेशी गिरोह फेसबुक से विदेशी युवती का झांसा देकर कर रहा था ठगी

(Hariyana News ) विदेशी गोरियों से दोस्ती (Cheating on Facebook ) की चाहत ऐसा फंदा है, जिसमें काफी कुछ लुट-पिट सकता है। (Be aware of friendship on Facebook ) फेसबुक यूजर्स को इस बात का अंदाजा नहीं होता कि मोहब्बत के नाम पर जो लॉलीपाप उन्हें दी जा रही है, दरअसल वह एक उन्हें फांसने का एक शुद्ध झांसा है। पुलिस ने ऐसे ठगने वाले एक विदेशी गिरोह का पर्दाफाश किया है।

By: Yogendra Yogi

Published: 28 Jul 2020, 05:16 PM IST

फरीदाबाद(हरियाणा): (Hariyana News ) विदेशी गोरियों से दोस्ती (Cheating on Facebook ) की चाहत ऐसा फंदा है, जिसमें काफी कुछ लुट-पिट सकता है। खासतौर पर फेसबुक इसका आसान माध्यम है। विदेशी महिलाओं से दोस्ती (Be aware of friendship on Facebook ) की चाहत रखने वाले फेसबुक यूजर्स को इस बात का अंदाजा नहीं होता कि मोहब्बत के नाम पर जो लॉलीपाप उन्हें दी जा रही है, दरअसल वह एक उन्हें फांसने का एक शुद्ध झांसा है। उनकी बातों में आकर कोई भी ठगी का शिकार हो सकता है। फरीदाबाद पुलिस ने फेसबुक के जरिए यूजर्स को फांस कर ठगने वाले एक विदेशी गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरफ्तार नाइजीरियन गिरोह में एक महिला भी शामिल है।

प्यार का झांसा दे फांसा
यह गिरोह एक युवती सहित पांच नाइजीरियाई नागरिक और दो स्थानीय युवक मिलकर चला रहे थे। पांचों नाइजीरियाई नागरिक यहां सूरजकुंड क्षेत्र में एक मकान में रह रहे थे। ये लोग फेसबुक पर लोगों को उल्लू बनाया करते थे और उनसे पैसे ठग लिया करते थे। ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद में तब सामने आया, जब एक व्यक्ति को फेसबुक पर विदेशी महिला की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई। व्यक्ति ने रिक्वेस्ट स्वीकार कर लिया। धीरे-धीरे दोनों में बातचीत होने लगी। फिर विदेशी लड़की ने कहा कि वह उससे प्यार करने लगी है और उसे एक गिफ्ट भेज रही है।

पार्सल क्लियरेंस के बहाने लिए रूपए
शख्स खुश हो गया। इसके बाद शख्स के पास कथित तौर पर एयरपोर्ट अधिकारियों का फोन आया। जिसने कहा कि उसका एक पार्सल आया है और उसे गिफ्ट लेने के लिए अकाउंट में कुछ पैसे जमा कराने होंगे। शख्स ने पैसे जमा करा दिए. उसके बाद विदेशी लड़की ने उससे बातचीत करनी बंद कर दी।

स्थानीय आरोपी ने बैंक खाता उपलब्ध कराया
आरोपितों ने हाल ही में अलीगढ़ उत्तर प्रदेश निवासी राजवीर सिंह से 35 हजार रुपये की धोखाधड़ी की थी। जिस खाते में रुपये डलवाए गए वह फरीदाबाद नेहरू ग्राउंड स्थित बैंक का है। फरीदाबाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। जांच के दौरान सभी आरोपितों को धर दबोचा। पुलिस ने बताया है कि स्थानीय निवासी अनुराग और निशांत इस गिरोह को अपना बैंक खाता उपलब्ध कराते थे।

अवैध रूप से रह रहे थे
पुलिस के मुताबिक इस गिरोह में एक नाइजीरियन महिला भी शामिल है। गिरोह का एक सदस्य 2012 में जबकि बाकी सभी सदस्य 2015 में भारत आये थे। इस गिरोह के एक सदस्य का वीजा 2017 में एक्सपायर हो चुका है, बावजूद इसके वह भारत में अवैध रूप से रह रहा था। गिरफ्तार नाइजीरियन युवक लड़की बनकर फेसबुक पर फ्रेंड बनते थे। गिरफ्तार दोनों भारतीय एयरपोर्ट अधिकारी बनकर अकाउंट में पैसे डलवाते थे। बाद में सभी उन रुपयों को बांट लिया करते थे। पुलिस आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है। पुलिस को उम्मीद है कि आरोपियों से पूछताछ में कई और भी खुलासे होंगे।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned