हरियाणा : दो दिन में तैयार होगा 100 ऑक्सीजन बेड का अस्पताल

छांयसा में बंद मेडिकल कॉलेज,सरकार ने किया टेकओवर
फरीदाबाद.
कोरोना वायरस संक्रमण के बीच चीन ने दस दिन में अस्पताल बना दिया था, अब हरियाणा में कोरोना महामारी से निपटने में फरीदाबाद के छांसया गांव में कई वर्ष से बंद पड़ा गोल्ड फील्ड मेडिकल कॉलेज अपनी भूमिका निभाएगा। ऐसे में ऑक्सीजन का संकट नहीं आएगा।

By: satyendra porwal

Published: 27 Apr 2021, 12:39 AM IST

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए फरीदाबाद के छांसया गांव में कई वर्ष से बंद पड़े गोल्ड फील्ड मेडिकल कॉलेज को हरियाणा सरकार ने टेकओवर कर लिया है। यहां 24 घंटे के अंदर 100 ऑक्सीजन बेड का अस्पताल तैयार करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल सोमवार को मेडिकल कॉलेज का दौरा करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
इससे पहले उन्होंने मेडिकल कॉलेज में अधिकारियों के साथ व्यवस्थाओं को लेकर मीटिंग भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे-जैसे कोरोना के मरीज बढ़े हैं, अस्पतालों पर दबाव बढ़ा है। ऑक्सीजन को लेकर भी कुछ कठिनाई आ रही थी। हमने समस्या का हल निकाला है। लिक्विड ऑक्सीजन की बजाए रेसियस फोर्म में हमें ऑक्सीजन मिल जाएगी। पानीपत-हिसार में दो 500-500 बेड के अस्पताल डीआरडीओ की मदद से तैयार करने जा रहे हैं। दोनों स्थानों का निरीक्षण किया गया है।
आर्मी का आएगा डॉक्टरों का स्टाफ
छायंसा मेडिकल कॉलेज में बनने वाले अस्पताल में डॉक्टरों का स्टाफ आर्मी का आएगा। अस्पताल की जिम्मेदारी भारतीय सेना संभालेगी। भारतीय सेना की मेडिकल कोर की टीम पालमपुर से पहुंचेगी। अगले दो-तीन दिन में हम अस्पताल को शुरू कर देंगे। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में दवाओं की कोई कमी नहीं है। रेमडेसीविर इंजेक्शन की सरकारी अस्पतालों में कोई कमी नहीं है। प्राईवेट अस्पतालों में कुछ दिक्कत आई है। इसके लिए प्राईवेट अस्पतालों के लिए भी डीलर्स की देखरेख सरकार ने शुरू कर दी है।

satyendra porwal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned