इन सल्यूट लेने वालों का हिसाब-किताब चुकता कर रही है पुलिस

(Hariyana News ) क्या आप इस बात यकीन करेंगे कि गंभीर अपराधों के जुर्म में जिन्हे जेल में होना चाहिए, पुलिस उन्हें सलाम ठोकती रही। (Interstate gang ) हवाई जहाज से यात्रा (Vechicle thief travel in flights ) करते रहे और महंगी लक्जरी गाडिय़ों का लुत्फ उठाते रहे। लेकिन कहावत है ना कि चोर के पांव नहीं होते, बस यह सारा रौब-दाब लंबे समय तक काम नहीं आया और आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

By: Yogendra Yogi

Published: 12 Sep 2020, 08:16 PM IST

फरीदाबाद(हरियाणा): (Hariyana News ) क्या आप इस बात यकीन करेंगे कि गंभीर अपराधों के जुर्म में जिन्हे जेल में होना चाहिए, पुलिस उन्हें सलाम ठोकती रही। हर जगह (Interstate gang ) वे बेतकल्लुफ होकर पूरे रौब के साथ पुलिसकर्मियों से सल्यूट करवाते रहे। और इतना ही नहीं हवाई जहाज से यात्रा (Vechicle thief travel in flights ) करते रहे और महंगी लक्जरी गाडिय़ों का लुत्फ उठाते रहे। लेकिन कहावत है ना कि चोर के पांव नहीं होते, बस यह सारा रौब-दाब लंबे समय तक काम नहीं आया और आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस भी कम नहीं है जितने सल्यूट बजवाए थे, अब उनका पूरा हिसाब-किताब चुकता रही है।

आईपीएस की वर्दी पहनते थे
एनआईए का असिस्टेंट कमिश्नर बनकर लक्जरी गाडिय़ां चुराने वाले गिरोह का फरीदाबाद पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। चोरी का वाहन मणिपुर ले जाने के दौरान पुलिस को चकमा देने के लिए एक आरोपी आईपीएस अधिकारी की वर्दी पहनकर कार में बैठता था, जबकि उसका साथी गनमैन व वाहन चालक बनकर गाड़ी चलाता था। आरोपी ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) का फर्जी पहचान पत्र भी बना रखा था और खुद को एसीपी बताता था।

फ्लाइट से आते चोरी करने
यह चोर बेहद हाई-फ ाई तरीके से चोरी की घटनाओं को अंजाम देते थे। आरोपी फ्लाइट में सवार होकर मणिपुर से दिल्ली एनसीआर में आते थे और फिर यहां से लग्जरी गाडिय़ां चुराते और फिर उन गाडिय़ों में सवार होकर मणिपुर जाया करते थे। जहां मणिपुर और संभल इलाके में यह गाडिय़ोंं को बेच दिया करते थे।

एनआईए का फर्जी कार्ड
मणिपुर के रहने वाले यह दोनों युवक एनसीआर से लग्जरी गाडिय़ों को चुराया करते थे और फिर चोरी की कार में सवार होकर मणिपुर जाते थे। इस दौरान उन्हें कहीं रोका-टोका न जाए इसके लिए एक आरोपी अबुंग मेहताब ने बकायदा एनआईए के असिस्टेंट कमिश्नर का फर्जी कार्ड बना रखा था। साथ ही वह गाड़ी में वर्दी भी रखता था, जिससे रास्ते में किसी भी तरह की कोई दिक्कत न हो।

बॉर्डर से गिरफ्तार किया
क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 की पुलिस ने वाहन चोरी की बढ़ती वारदात पर लगाम लगाने के लिए उन्होंने अपनी टीमों को सक्रिय किया हुआ था। इस दौरान उन्हें पता चला कि मणिपुर का एक गिरोह यहां से कार चोरी कर उन्हें वहां ले जाता है। एक सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने बदरपुर बॉर्डर से मणिपुर निवासी अबंग मेहताब व कबीर खान को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान मेहताब ने बताया कि वह और उसका साथी कबीर यहां से चोरी की गाडिय़ों के नंबर बदलकर उन्हें मणिपुर ले जाते थे।

अवैध हथियार रखते थे
रास्ते में कोई रोके नहीं, इसके लिए वह आईपीएस की वर्दी पहनकर कार में बैठता था, जबकि कबीर उसका चालक व सुरक्षाकर्मी बनता था। इस दौरान किसी को शक न हो कबीर अपने साथ अवैध हथियार भी रखता था। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ नकली दस्तावेज बनाने, धोखाधड़ी व अवैध हथियार रखने का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें 8 दिन के लिए रिमांड पर भेज दिया गया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned