मोबाइल पर बात करते हुए हाईटेंशन विद्युत लाइन से दूर ही रहें, हो गया यह हादसा

(Haryana News ) मोबाइल (Mobile ) से बात करते हुए बिजली की हाईटेंशन लाइन (H.T.line ) से दूर ही रहें तो अच्छा हैं। इसकी अनदेखी जान पर (Avoid talking near H.T.line ) भारी पड़ सकती है। ऐसा ही एक हादसा हुआ फरीदाबाद में, जहां एक युवक मोबाइल से बातचीत के दौरान हाइटेंशन (Youth died, while talking on mob. ) लाइन की चपेट में आ गया। इस हादसे में उसकी मौत हो गई।

By: Yogendra Yogi

Published: 17 Sep 2020, 08:57 PM IST

फरीदाबाद(हरियाणा): (Haryana News ) मोबाइल (Mobile ) से बात करते हुए बिजली की हाईटेंशन लाइन (H.T.line ) से दूर ही रहें तो अच्छा हैं। इसकी अनदेखी जान पर (Avoid talking near H.T.line ) भारी पड़ सकती है। ऐसा ही एक हादसा हुआ फरीदाबाद में, जहां एक युवक मोबाइल से बातचीत के दौरान हाइटेंशन (Youth died, while talking on mob. ) लाइन की चपेट में आ गया। इस हादसे में उसकी मौत हो गई। हादसे का कारण बना मोबाइल से बातचीत करते हुए हाईटेंशन लाइन का ख्याल नहीं रखना।

मोबाइल से बात करते हुए हादसा
एनआईटी-पांच के एम ब्लॉक में मंगलवार देर रात एक घर की छत पर 26 वर्षीय युवक रोहित बत्रा के मोबाइल पर कोई कॉल आई और वह छज्जे की तरफ खड़े होकर बात करने लगा। इसी दौरान हाईटेंशन लाइन ने उन्हें अपनी ओर खींच लिया। रोहित हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से गंभीर रूप से झुलस गया। पड़ोस में ही छत पर किसी ओर ने यह हादसा देखा, तो शोर मचाया। छत पर पहुंचे स्वजनों ने बुरी तरह झुलसे रोहित को राजकीय बादशाह खान अस्पताल पहुंचाया, पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ये कहती है
पुलिस के मुताबिक एम ब्लॉक निवासी रोहित अपने दो दोस्तों के साथ उनके छत पर पार्टी कर रहा था। मौके से शराब की एक बोतल भी बरामद हुई है। हालांकि रोहित नशे में था, इस बारे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर कुछ कहा जा सकता है। इस दौरान रोहित के मोबाइल पर कोई कॉल आई और वह छज्जे की तरफ खड़े होकर बात करने लगा। इस दौरान सामने से गुजर रही हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से झुलस गया। पुलिस के मुताबिक रोहित बत्रा अपनी पत्नी प्रीति व बेटी श्रेया के साथ रहते थे। उनके दो बड़े भाई भी बगल वाले मकान में रहते हैं।

मुआवजे की मांग
रोहित स्थानीय रामलीला में हर साल सीता का किरदार निभाता था। रोहित कई वर्षो से पांच नंबर में श्री धार्मिक लीला कमेटी के मंच पर रामलीला मेें सीता की भूमिका निभाते रहे हैं। रोहित की मौत से गुस्साए परिजनों ने बीके सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम हाउस के बाहर हंगामा कर बिजली विभाग के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और एनआईटी थाने में विभागीय अधिकारियों के खिलाफ तहरीर भी दी गई है। इस दौरान सभी ने रोहित की पत्नी को सरकारी नौकरी व उचित मुआवजा देने के साथ ही दोषी बिजली अधिकारी के खिलाफ कारज़्वाई की मांग उठाई। वहीं अधीक्षण अभियंता नरेश कक्कड़ ने बताया कि कंपनी अधिनियम के तहत जो भी उचित मुआवजा होगा, वह दिलाया जाएगा। इसके बाद परिजन शव लेने के लिए तैयार हुए।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned