150 सालों से राखी पर्व पर आयोजित होता है अखाड़ा, बहनों की रक्षा के लिए शुरू हुई थी खास परंपरा

Abhishek Gupta

Publish: Aug, 16 2019 05:42:44 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

फर्रुखाबाद. फर्रुखाबाद के धन्सुआ गाँव में पिछले डेढ़ सौ सालों से राखी पर्व पर अखाड़ा आयोजित करने की परम्परा चली आ रही है। इसी के तहत यहां अखाड़ा आयोजित किया गया है। जिसमें युवाओं नें अपनी शरीरिक दक्षता का परिचय देते हुए हैरत अंगेज कारनामे दिखाएं। इसमें प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों ने जिमनास्टिक का प्रदर्शन किया और कलावाजी भी दिखायी । इन युवाओं में अपने पारम्परिक खेलों को लेकर खासा उत्साह था। दिलचस्प बात यह है कि इस परम्परा को लोगों के साहस और अंग्रेजों से मोर्चा लेनें की याद में निभाया जाता है। बताते है कि अंग्रेजी हुकूमत में सावन के महीने के समाप्त होने के वाद जब बहू बेटियां मिट्टी के पात्र में घरों में बोई गयी जौं को नदी में विसर्जित करने के लिये जाती थी। तब क्रूर अंग्रेज उनके साथ बदनीयत से छेड़छाड़ करते थे ।उससे परेशान होकर गांव वालों ने अपनी खुद मदद के लिए योजना बनाई जिसमे गांव के नौजबानो को आत्मरक्षा के साथ अपने घरों की महिलाओं की भी सुरक्षा कर सके।

अखाड़ों से शिक्षा लेने के बाद उस वक्त लाठी डंडों की मदद से अखाड़ों में कसरत करने वाले साहसी नौजवान इन महिलाओं की रक्षा करते थे। इन्हीं घटनाओं की स्मृति में फर्रुखाबाद के ग्रामीण इलाकों में इस आयोजन की परम्परा साल दर साल चली आ रही है। इस गांव के लोग ही नहीं अन्य जगहों के युवा पीढ़ी इस प्रकार की प्रतिभाओं को सीखने में लगी हुई हैं। आज वर्तमान समय में जिले में लगभग एक हजार से ऊपर लाठी चलाने वाले युवा दिखाई दे रहे हैं। इस प्रकार के आयोजनों से युवाओं के शरीर मजबूत होने के साथ उनके अंदर एक नई प्रतिभा जन्म लेती है। इस कार्यक्रम को देखने के लिए जिले के हर कोने से लोग आते है। जिस समय युवा अपने मुंह के अंदर पूरा चाकू रखता है, उस समय देखने वालों की सांसें रुक जाती है। एक युवा मुँह में धागा डालकर आँख से निकालता है। इस आयोजन में एक से एक हैरत अंगेज कारनामे युवा करके दिखाते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned