पांच वर्षीय अंजली हत्या कांड मामला: अधिकारी परेशान, कहा - घटना का होगा खुलासा

शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव चांदपुर में मासूम अंजली की दुष्कर्म के बाद हत्या हो जाने से अधिकारी परेशान हैं।

फर्रुखाबाद. शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव चांदपुर में मासूम अंजली की दुष्कर्म के बाद हत्या हो जाने से अधिकारी परेशान हैं। उससे भी ज्यादा डर अधिकारियों को सीएम के दौरे को लेकर है। सीएम का दौरा है। इससे पूर्व अधिकारी घटना को लेकर पूरी ताकत लगाये हुये हैं। शनिवार की शाम आईजी ने घटना स्थल का निरीक्षण कर कहा कि जल्द घटना का खुलासा होगा।


आईजी आलोक कुमार शहर कोतवाली के ग्राम चांदपुर पंहुचे। उन्होंने घटना स्थल देखा और अधिकारियों से घटना की जानकारी ली। वही आईजी उस जगह भी गये जहां गायब होने से पूर्व मृतका अंजली सो रही थी। उन्होंने परिजनों से भी घटना की जानकारी ली। परिजनों ने रो-रो कर आपबीती बतायी। परिजनों ने आईजी से कहा की वह उस आदमी का जल्द से जल्द नाम बताएं जिसने इस शर्मनाक घटना को अंजाम दिया है। आईजी ने बताया की कई टीमें घटना के खुलासे के लिये लगी है।जल्द खुलासा किया जायेगा।


परिजनों ने जाम लगाने का किया प्रयास
पोस्टमार्टम से परिजन शव लेकर अपने गांव याकूतगंज नगला पजाबा ले गये। परिजनों ने जाम लगाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा की आरोपी को अभी तक पकड़ा नही गया। जाम लगाने की सूचना पर पुलिस मौके पर पंहुची और जल्द आरोपी की गिरफ्तारी कर ली जायेगी। पुलिस विवाह के दिन कौन कौन महिलाओं से लेकर लड़कियों से उल्टी सीधी हरकतें कर रहे थे उन सभी को उठाकर पूछताछ कर रही है। जिस तरीके से पुलिस 24 घण्टे अंजली के हत्यारों को खोजने में लगी हुई है। उससे यही लग रहा है कि उसके हत्यारों को पुलिस जल्द गिरफ्तार कर लेगी। दूसरी तरफ मृतक लड़की के गांव से भी पुलिस ने कई लोगों को उठाया है। जिन जिन लोगों पर पुलिस को जरा भी शक होता है पुलिस उससे जानकारी कर रही है।


उधर मृतक अंजली के माता पिता की हालत खराब हो रही है। जिसका मुख्य कारण की उन दोनों का रोना बन्द नही हो रहा है। दोनों के चक्कर में पूरा परिवार परेशान है। रात से पुलिस ने नए सिरे उस रात छत पर कौन कौन लोग मौजूद थे उनसे सिलेवार एक एक आदमी से पूछताछ करके हत्या का खुलासा करने का अंजादा लगाया जा रहा है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned