जिला अस्पताल के डॉक्टर से सीओ सिटी ने की अभद्रता, अस्पताल की सेवाएं हुई ठप

फर्रुखाबाद के लोहिया अस्पताल में डाक्टर के साथ पुलिस द्वारा बदसलूकी किए जाने से गुस्साए डाक्टरों ने हड़ताल शुरू कर दी।

फर्रुखाबाद. फर्रुखाबाद के लोहिया अस्पताल में डाक्टर के साथ पुलिस द्वारा बदसलूकी किए जाने से गुस्साए डाक्टरों ने हड़ताल शुरू कर दी। हड़ताल के दौरान ही एक युवक ने ओपीडी के मुख्य गेट से जबरन घुसने को लेकर कर्मचारी के साथ बदसलूकी की। गुस्साए कर्मचारियों ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की बदसलूकी का विरोध करते हुए हड़ताल शुरू हो गई। जानकारी के अनुसार नगर के मोहल्ला खैराती खां निवासी डॉक्टर इरफान लोहिया अस्पताल जा रहे थे। जब वह लाल गेट बाजार से गुजर रहे थे, तभी सीओ सिटी ने उन्हें रोक लिया और पास दिखाने को कहा। डॉक्टर सीओ सिटी को पास नहीं दिखा सके तो सीओ सिटी ने उन्हें पास बनवाने की सलाह दी। डॉक्टर इरफान ने लोहिया अस्पताल जाकर डॉक्टरों को बताया की सीओ सिटी में मेरे साथ बदसलूकी की है। मैंने उन्हें अपना परिचय पत्र भी दिखाया, जब अस्पताल से डा अभिषेक चतुर्वेदी ने सीओ सिटी से बात की तब मुझे आने दिया गया। इसी बात पर अस्पताल के सभी कर्मचारियों में रोष व्याप्त हो गया और पुलिस की बदसलूकी के विरोध में हड़ताल शुरू कर दी गई।

सीएमएस डॉ अशोक कुमार, डॉ गौरव मिश्रा, डॉ अभिषेक चतुर्वेदी, डा0 वीके दुवे आदि डॉक्टरों ने बैठक कर पुलिस कार्रवाई पर नाराजगी जताई। अस्पताल में इमरजेंसी सेवा बंद होने की जानकारी मिलने पर सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार मौर्य ने डॉक्टरों से खेद प्रकट करते हुए हड़ताल खत्म करने को कहा तो डॉक्टर सीओ सिटी को बुलाने की मांग पर अड़ गए। वार्ता के दौरान डॉक्टर सिटी मजिस्ट्रेट की कथित धमकी से खफा हो गए और उन पर धमकाने का आरोप लगाकर सभी अन्य डॉक्टरों सहित लॉक डाउन में चले जाने का आवाहन किया। गुस्साए डा गौरव मिश्रा ने सभी के सामने अपनी वर्दी उतार उतार कर त्यागपत्र तक दे देने की धमकी दी। बाद में एडीएम व एसपी ने भी डाक्टरों को समझाया। एडीएम ने सीओ सिटी की ओर से खेद प्रकट किया। लेकिन डॉक्टरों ने उनकी भी कोई बात नहीं मानी।

coronavirus
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned